दो मुँह वाला साँप तो देखा होगा, तीन मुँह वाला पत्रकार देख लो

0
481

दो मुँह वाला साँप तो देखा होगा, तीन मुँह वाला पत्रकार देख लो :MEDIA THREE MOUTH FACE NEWS 

तीन मुँह वाला पत्रकार

देहरादून पत्रकार का काम सिर्फ खबर करना होता है चमचागिरी करने वाले कई पत्रकारों का झुंड जंगल में उन जानवरो की तरह विचरण करना हुआ देहरादून के राजपुर रोड से लेकर ऐसी जगह पर मिल जायेगा जहाँ फ्री की शराब, कबाब,शबाब,का क्लाइमेक्स अंजाम दिया जाता है इनकी जुगत को दो मुँह वाला साँप नहीं तीन मुँह वाले कथित पत्रकार के रूप में कहा जा सकता है

देहरादून में सिर्फ मीडिया की खाल में दलाली वाले कथित पत्रकार बनकर यहाँ राज कर रहे है क्या कभी किसी मीडिया के ऐसे नेता जो अपनी दुकान उन लोगो के चंदे से चला रहे है उनकी खबर का कही और असर तो दूर अख़बार में दो लाइन भी नहीं लिख सकते सिर्फ खबर को कॉपी पेस्ट मारकर उनका कथित पत्रकारिता का धंदा बखूबी चल रहा है और असल मीडिया वाले वो लोग जो रोज़ खबर लिख कर अपना मीडिया का धर्म निभा कर असल काम कर रहे है उनको कोई नहीं सलाम कर रहा आखिर ये दोगलपन क्यों भाई,जवाब तो इन मीडिया की दुकान चला रहे दुकानदारों से मिलेगा नहीं लेकिन कड़वा सच हम ही लिख कर अपने दिल के सुकून को अरमानो में बदल देते है उत्तराखंड की मीडिया में आज ऐसे घुश पेठी लोगो की संख्या हो गयी है जो समय के साथ बढ़ती जा रही है जिनका मकसद मीडिया नहीं बल्कि उनका हाथ पकड़ कर अपनी दुकानदारी चलाना भर रह गया है

मीडिया के समाज में भी इस तरह के लोगो का दखल कही न कही उनके हको पर डाका हो गया है जो कई सालो से अपनी कलम की लेखनी का प्रयोग सही खबर लिख कर देते है लेकिन आज उनका वजूद इसलिए ख़त्म सा हो गया क्योकि पूरा समाज आज कारपोरेट की तर्ज पर अपनी सीमाओं की तिलांजलि देता हुआ नज़र आ रहा है ऐसे में अब मीडिया के समाज का दोहन धन वर्षा के रूप में किया जा रहा है आर्थिक मज़बूरी के कारण मीडिया की गत बिगड़ गयी है

चलिए एक खबर पर आपको लेकर चलते है जो बताने के लिए काफी है की किस तरह आज मीडिया हाउस में एक दूसरे को चमकता हुआ देख कर किस तरह दूसरे की काट के लिए अपने पद तक की गरिमा का ध्यान नहीं रखा जा रहा ये है वो खबर जो गैरसैण में अंजाम दी गयी इसका सच उस मीडिया हाउस के लिए एक सबक जरूर है जिसका लगातार ग्राफ निचे उत्तराखंड में सरक जाने के लिए तैयार हो चूका है क्योकि यहाँ उच्ची पहुंच के कारण कब्ज़ा जमा कर कई सालो की मेहनत पर खबरों का पीआर किया जाना शुरू हो गया है

गैरसैण में सिर्फ खबर ही नहीं रही मीडिया के लोगो के साथ भी उनके ही लोगो ने बेवफाई की है खबर है की एक न्यूज़ चैनल के पत्रकार को उनके नेता प्रतिपक्ष की बाइट लेने के लिए फ्रेम में होने के बाद भी कवर नहीं करने दिया गया कमाल हो गया अगर गैरसैण इतना ही गैर है तो वहाँ पर देहरादून से इतनी बड़ी टीम लेकर जाने की जरुरत क्या थी बरहाल चर्चा वहाँ चंपादक की खूब रही लेकिन आखिर ये कोण था जिसने दो मुँह वाले साँप को पीछे छोड़ कर अपना पत्रकारिता का तीन मुँह वाला रूप दिखाया है  हमसे जुड़े रहने के लिए आपका इसी तरह सहयोग और समाज में हो रहे अनैतिक कामो के खिलाफ हमारी मुहीम में हमसे जुड़े आपके नाम को गोपनीय रखने का वादा भड़ास फॉर इंडिया करता है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments