त्रिदिवसीय मद्महेश्वर मेले का शुभारंभ

0
437

त्रिदिवसीय मद्महेश्वर मेले का शुभारंभ
रूद्रप्रयाग/देहरादून त्रिदिवसीय मद्महेश्वर मेले का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उखीमठ धार्मिक और सौंदर्यपूर्ण स्थल है। पंचकेदारों का गद्दी स्थल होने के साथ ही राजा मानधाता की तपस्थली के नाम से भी प्रसिद्ध है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र और राज्य की तरक्की के लिए हस्त शिल्प, खेती-खलिहान की ओर लौटने की जरूरत हैं। इसके साथ ही पशुपालन के प्रति भी लोगों में रुचि पैदा करनी होगी। प्रदेश के विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा निरंतर प्रयास किये जा रहें है। राज्य सरकार का मकसद केवल भौतिक रूप से ही कार्य करना नहीं, अपितु आपदा प्रभावितों को स्वावलम्बित करना भी है। उन्होंने कहा कि उखीमठ क्षेत्र को वर्ष 2013 में भारी त्रासदी का सामना करना पडा है, आपदा से प्रभावित लोगों को राज्य सरकार द्वारा सहायता प्रदान की जा रही है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि केदारनाथ व बद्रीनाथ धाम में अब गाय के दूध का भोग लगाया जाएगा। इसके लिए सम्बंधित जिले के जिलाधिकारियों को भी निर्देशित किया गया है। उन्होंने पर्यटक स्थल चैपता में कृत्रिम झील के निर्माण के लिए जिलाधिकारी डाॅ राघव लांगर को डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिए।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने मद्महेश्वर मेले के लिए 3 लाख रूपए प्रतिवर्ष देने, नगर पंचायत उखीमठ के लिए 25 लाख रूपए का विशेष ग्रांट, मद्महेश्वर घाटी के विकास हेतु 25 लाख रूपए विशेष ग्रांट, उखीमठ-काकड़ागाड मोटरमार्ग की स्वीकृति, अगले वित्तीय वर्ष तक कन्या हाईस्कूल उखीमठ का इण्टर कालेज में उच्चीकरण, स्वयं सहायता समूह एवं दुग्ध समितियों से जुड़ी महिलाओं को प्रशिक्षण देकर दुग्ध उत्पादन की सम्भावनाओं को बढ़ाना, चन्द्रापुरी में रिवर राफ्टिंग की सम्भावनाएं तलाशना, मद्महेश्वर को पांचवें धाम के रूप में विकसित करने की योजना, चुन्नी मंगोली क्षेत्र के लिए 3 लाख रूपए, मनसूना क्षेत्र के मेले के लिए 1 लाख रूपए की घोषणाएं की।
इस अवसर पर संसदीय सचिव एवं केदारनाथ क्षेत्र की विधायक श्रीमती शैलारानी रावत ने क्षेत्रीय समस्याओं से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि पांचवें धाम के रूप में मद्महेश्वर खुशहाली एवं समृद्धि का प्रतीक है। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री रावत का आभार जताते हुए कहा कि केदारघाटी में हवाई एम्बुलेंस सेवा को जल्द से जल्द शुरू करवाया जाए, जिससे कि क्षेत्रीय जनता को इसका लाभ मिल सके।
कार्यक्रम में नगर पंचायत अध्यक्ष उखीमठ रीता पुष्पवान, ब्लाक प्रमुख संत लाल, जिला पंचायत सदस्य संगीता नेगी व मीना पुण्डीर, चाय विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष देवेन्द्र झिंकवाण, जिलाधिकारी डाॅ राघव लांगर, पुलिस अधीक्षक पी.एन. मीणा, मुख्य विकास अधिकारी सुनील कुमार, एसडीएम उखीमठ उत्तम सिंह चैहान, एसडीएम जखोली देवमूर्ति यादव समेत क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments