किडनी कांड में भाजपा नेता का मेडिकल स्टोर, पुलिस ने जारी किया लुक आउट

0
237

किडनी कांड में भाजपा नेता का मेडिकल स्टोर, पुलिस ने जारी किया लुक आउट LOOK OUT NOTICE KIDNEY KING DR AMIT KIDNEY KING DR AMIT देहरादून उत्तराखंड के अपर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि बाप-बेटे के साथ चार विदेशी नागरिकों के खिलाफ मंगलवार को लुक आउट जारी कर दिया है। मामले की जांच के लिए मंगलवार को एसआइटी का गठन किया गया है। इस मामले को लेकर अभी कई और नाम भी सामने आ सकते है पुलिस उनके बारे में जानकारी जुटा रही है।

गंगोत्री चैरिटेबल अस्पताल में किडनी खरीद-फरोख्त के अवैध धंधे में चौंकाने वाली जानकारी सामने आई हैं। मूलरूप से मुंबई निवासी और कभी एनसीआर में इसी धंधे में जेल जा चुका बीएएमएस डॉ.अमित राऊत इस रैकेट का मास्टरमाइंड निकला। इसमें बेटा डॉ. अक्षय भी शामिल है। बाप-बेटे 500 से ज्यादा किडनियां बेच चुके हैं। इनका नेटवर्क उत्तराखंड, महाराष्ट्र, गुरुग्राम और गुजरात से लेकर विदेश तक था।

उत्तराखंड के अपर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि बाप-बेटे के साथ चार विदेशी नागरिकों के खिलाफ मंगलवार को लुक आउट जारी कर दिया है। मामले की जांच के लिए मंगलवार को एसआइटी का गठन किया गया है। आरोपियों की तलाश को दून पुलिस की टीमें हरियाणा व शिमला में डेरा डाले हुए हैं। उधर, गिरफ्तार एजेंट जावेद खान को कोर्ट से जेल भेज दिया गया। पुलिस ने किडनी बेचने वाले एक युवक और एक महिला का दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मेडिकल कराया, जिसमें दोनों की किडनी निकाले जाने की पुष्टि हुई।

अस्पताल लीज पर दिलाने में बिचौलिये की भूमिका निभाने वाले डॉ. राजीव चौधरी का मोबाइल स्विच ऑफ है। एक दिन पहले उसकी लोकेशन शिमला और हरियाणा में मिली थी। एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि डॉ. अमित 1993 से किडनी का अवैध धंधा कर रहा है। उसका दिल्ली में बी-1/53 मालवीय नगर में मकान था, जिसे 2008 में सीज कर दिया गया था।

अमित ने पहले मुंबई फिर हरियाणा व गुजरात में जड़ें जमाई, वह सजा भी पा चुका है। जेल से छूटने के बाद गुरुग्राम में फिर से यह धंधा शुरू कर दिया। फिर उसने दून के गंगोत्री चैरिटेबल अस्पताल को लीज पर लेकर अवैध धंधा शुरू किया।बकौल एसएसपी, डॉ.अमित के कई नाम हैं। इसके लोकल कनेक्शन के बारे में कई अहम जानकारी मिली हैं। गंगोत्री अस्पताल से मिले दस्तावेजों की जांच की जा रही है। एजेंट जावेद खान के दावों की तस्दीक कराई जा रही है। अब तक मिले पांच बैंक अकाउंट से हुई लेनदेन का भी ब्योरा जुटाया जा रहा है।

देहरादून के हरिद्वार रोड स्थित गंगोत्री चैरिटेबिल अस्पताल में तीन-तीन लाख रुपये में किडनी खरीदने वाले गैंग में शामिल अधिकांश चेहरों से मंगलवार को नकाब उठ गया। इस खेल में डॉ.अमित राऊत के अलावा अस्पताल संचालक राजीव चौधरी उर्फ बली निवासी बागपत और डॉ.रक्षित उर्फ अक्षय के अलावा ओमान के शेख समेत चार लोग शामिल हैं।

वही देहरादून पुलिस को जानकरी मिली है की जिस जगह पर अस्पताल में किडनी के कारोबार को संचलित किया जा रहा था वहाँ पर मेडिकल स्टोर एक भाजपा नेता का बताया जा रहा है पुलिस ने भाजपा नेता के घर पर जाकर भी जानकारी ली है जिसके बाद इस मामले को लेकर राजनैतिक दवाब भी पुलिस पर कायम किये जाने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments