पेंशन के लिए बेटे ने ऐसा किया काम पुलिस भी हो गयी हैरान

0
111

पेंशन के लिए बेटे ने ऐसा किया काम पुलिस भी हो गयी हैरान kolkata man withdrew pension using dead mothers thumb

पेंशन के लिए बेटे ने ऐसा किया काम पुलिस भी हो गयी हैरान
कोलकाता : पेंशन पाने के लिए एक बेटे ने अपनी माँ की लाश को तीन साल तक फ्रीज़ में रख कर गज़ब कारनामा अंजाम दिया और आसानी से बैंक से हर महीना पेंशन लेता रहा मामले का पता चल जाने के बाद पडोसी भी इस करतूत से हैरान बताये जा रहे है मां की पेंशन लेते रहने के लिए एक बेटे ने उसके शव को तीन साल तक फ्रीजर में रखा। हर साल वह मां के शव से अंगूठे का निशान लगाकर जीवित होने का प्रमाण बैंक में पेश करता था। इस तरह वह तीन साल से हर महीने 50,000 रुपये पेंशन ले रहा था। हैरत की बात यह है कि उसके साथ रहने वाले पिता ने कभी इस पर आपत्ति नहीं जताई। घटना कोलकाता के बेहाला थाना इलाके के जेम्स लांग सरणी की है। सूचना मिलने पर बुधवार देर रात पुलिस ने छापेमारी कर वृद्धा का शव बरामद कर बेटे को गिरफ्तार कर लिया।

इस तरह का मामला पहली बार सामने आया है जब पेंशन लेने के लिए इस तरह का कारनामा अंजाम दिया गया है पुलिस इस मामले की अभी जांच में जुटी हुई है की क्या बेटा अपने पिता को भी मौत के बाद फ्रिज में रख कर पेंशन लिए जाने की योजना पर काम तो नहीं कर रहा था

बीना मजूमदार (84) फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एफसीआइ) में बड़े पद से रिटायर हुई थीं। करीब तीन वर्ष पहले बीमारियों के चलते बीना की मौत हो गई थी। उनके बेटे शुभब्रत मजूमदार (46) ने पेंशन के लालच में शव का अंतिम संस्कार न करके उसे घर में ही फ्रीजर में रख दिया था। लेदर टेक्नोलॉजी की पढ़ाई करने वाले शुभब्रत शव को संरक्षित करने के लिए रसायनों का इस्तेमाल करता था। उसके पिता गोपाल चंद्र मजूमदार (89) उसी के साथ रहते हैं। वह भी एफसीआइ में बड़े पद से सेवानिवृत्त हैं। मां बीना मजूमदार को 50 हजार रुपये प्रति माह पेंशन मिलती थी।

इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने पर भी वह नौकरी नहीं करता था। डेथ सर्टिफिकेट को छिपाकर बनवाया था लिविंग सर्टिफिकेट: बेहाला के ही बालानगर अस्पताल में 2015 में ही बीना मजूमदार की मौत हो गई थी। अस्पताल प्रशासन ने पुलिस को बताया कि सात अप्रैल 2015 को रात 8 बजे बीना को भर्ती कराया गया था और रात 9.55 बजे मौत हो गई थी। अस्पताल से मिले मां के डेथ सर्टिफिकेट को छिपाकर बेटे ने अवैध तरीके से लिविंग सर्टिफिकेट बनवा लिया था। जीवित होने के प्रमाण के रूप में शुभब्रत उनके अंगूठे के निशान को लेकर बैंक जाता था और कहता था कि काफी उम्र होने के चलते वह साइन करना भूल गई हैं।

पुलिस ने शुभब्रत के घर से दो फ्रीजर बरामद किए हैं। वह दूसरा फ्रीजर पिता के लिए लाया था। शुभब्रत ने पिता की मौत के बाद उन्हें भी फ्रीजर में रखकर पेंशन उठाने की सोच रखी थी। पिता से उसने कहा था कि उसने मां को जिंदा रखने की जुगत लगाई है। बताया जा रहा है कि पिता को भनक लग गई थी और संभव है कि उन्होंने ही पुलिस को सूचना दी हो।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments