कारगिल विजय दिवस पर शहीदों को किया याद

0
783

कारगिल विजय दिवस पर शहीदों को किया याद 

देहरादून। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कारगिल विजय दिवस के अवसर पर कहा है कि कारगिल की विजय भारतीय सेना के अदम्य साहस व शौर्य का प्रतीक है। भारतीय सैनिकों ने जिस प्रकार विपरीत परिस्थितियों में वीरता का परिचय देते हुए घुसपैठियों को सीमा पार खदेड़ा उससे पूरी दुनिया ने भारतीय सेना का लोहा माना। ‘‘कारगिल युद्ध में सीमाओं की रक्षा के लिए वीर सैनिकों द्वारा किए गए सर्वोच्च बलिदान को कृतज्ञ राष्ट्र हमेशा याद रखेगा।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड में वीरता व बलिदान की लम्बी परम्परा रही है। कारगिल में भी यहां के सपूतों ने अपने प्राणों की आहूति दी। राज्य सरकार सैनिकों व पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए वचनबद्ध है।

कारगिल शौर्य दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गांधी पार्क स्थित शहीद स्मारक पर पहुंचकर कारगिल के शहीदों को अपनी श्रदांजलि दी है। इस मौके पर सेना के कई सेवानिवृत्त अफसर और अन्य कई गणमान्य लोग भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शहीद स्मारक पर कारगिल में शहीद हुए जवानों को नमन करते हुए पुष्प चक्र अर्पित किया। इस मौके पर हरीश रावत ने शहीदों के परिजनों को सम्मानित भी किया। गौरतलब है कि कारगिल के युद्ध में बड़ी संख्या में उत्तराखंड के जवान शहीद हुए थे।सत्रह साल बीत गए कारगिल युद्ध को, आज फिर उन शहीदों की याद ताजा हो गई। आज विजय दिवस के रूप में पूरा हिंदुस्तान उन शहीदों को याद कर रहा है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments