इंडियन रेसलिंग का डब्ल्यू.डब्ल्यू.एफ वर्जन वर्ष २०१६ में उत्तराखंड में होगा लांच

0
533

इंडियन रेसलिंग का डब्ल्यू.डब्ल्यू.एफ वर्जन वर्ष २०१६ में उत्तराखंड में होगा लांच
शिवानी सिंह
नई दिल्ली मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मंगलवार को नई दिल्ली में आयोजित भारत केन्द्रित प्रो-रेसलिंग प्रतिभा कार्यक्रम ’द ग्रेट खली’ का शुभारम्भ किया। जिसे ’काॅन्टीनंेटल रेसलिंग इंटरटेनमंेट’ (सीडब्ल्यूई) नाम दिया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड में वर्ष 2016 में नेशनल गेम्स से पहले हल्द्वानी व देहरादून में ग्रेट खली द्वारा इंडियन रेसलिंग का डब्ल्यू.डब्ल्यू.एफ वर्जन लांच किया जायेगा। इसमें सीएम4यूथ कार्यक्रम के अंतर्गत युवाओं को भी शामिल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस आयोजन को विशेषज्ञ खेल और ब्रांड मैनेजमेंट कंपनी ’’इंटीग्रेटेड ब्रांड साॅल्यूशंस(आईबीएस)’’ की सहभागीता में आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम को सीएम4यूथ से भी समर्थन प्राप्त होगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि सीएम4यूथ कार्यक्रम एक विशेष युवा संपर्क कार्यक्रम है। जिससे वे यूवाओं के लिए विशेष तौर पर तैयार की गई सोशल साईट www.facebook.com/CM4Youth के माध्यम से युवाओं के नियमित संपर्क में रहते है।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि यह हमारे लिए गोरव का विषय है कि द ग्रेट खली (दिलीप सिंह राणा) हमारे पडोसी राज्य हिमाचल प्रदेश से तालुक रखते है और उनके द्वारा युवओं को प्रशिक्षित करने का बेहतरीन कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे लोग जो संघर्ष से अपने लक्ष्यों की प्राप्ति करते है और अपनी जिंदगी की स्क्रिप्ट स्वयं लिखते है, उनके जज्बे को हम सलाम करते है। उन्होंने कहा कि ग्रेट खली युवाओं के लिये प्रेरणाश्रोत है और हमे उन पर नाज है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके द्वारा शुरू किया गया यह अभियान युवाओं में नया जोश भरेगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड सरकार युवाओं के लिए अनेक कार्य कर रही है और सीएम4यूथ कार्यक्रम से युवाओं को जोडा जा रहा है। जो समाज में रचनात्मक कार्यक्रमों का बहुत बड़ा अभियान चला रहे है।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि युवा न सिर्फ हमारा भविष्य है बल्कि वे हमारा वर्तमान भी है। उन्होंने कहा कि एक युवा देश व युवा राज्य के विकास व बेहतरी के लिए युवओं को प्रात्साहित करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि खली पारंपरिक खेल ’कुश्ती यानी रेसलिंग’ के आधुनिक प्रारूप को प्रोत्साहित करने के लिए प्रयास कर रहे है। उन्होंने कहा कि खली द्वारा इस कार्यक्रम को उत्तराखण्ड से शुरू करने से उत्तराखण्ड राज्य की प्रतिभाओं को आगे आने में मदद मिलेगी।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि ’’प्रो-रेसलिंग’’ उत्तराखण्ड के युवाओं में बेहद लोकप्रिय है। खली एक पहाड़ी गांव से बेहद मामूली श्रमिक से आगे बढ़ते हुए आज इस मुकाम पर पहुंचे हैै और उनका नाम विश्व के महानतम प्रो-रेसलर्स में लिया जाता है। उन्होंने कहा कि कड़ी मेहनत और सच्चे समर्पण से सफलता हासिल की जा सकती है। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि खली के इस प्रयास से ना सिर्फ लम्बी अवधि तक इस खेल को लेकर एक नया रोमांच पैदा होगा बल्कि इससे हमारे युवाओं में जागरूकता भी बढ़ेगी। इसके साथ ही राज्य के युवाओं को अपनी मान्यता के लिए नया और शानदार मंच मिलेगा और वे प्रो-रेसलिंग की दुनिया में अपनी सफलताओं की कहानी को आगे ले जाने में भी सफल होंगे।
इस अवसर पर द ग्रेट खली (दिलीप सिंह राणा) ने कहा कि मुख्यमंत्री हरीश रावत युवाओं के लिए जो कार्य कर रहे है वह सराहनीय कदम है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा जो निर्देश उन्हें दिए जायेंगे वे युवाओं के साथ मिलकर बढ़चढ़कर उस कार्य को करेंगे। उन्होंने कहा कि वे वर्ष 2016 में उत्तराखण्ड के हल्द्वानी और देहरादून से ही रेसलिंग के डब्ल्यू.डब्ल्यू.एफ कार्यक्रम की शुरूआत करेंगे। श्री खली ने कहा कि वे इस कार्यक्रम को देखने आने वाले युवाओं को टिकट में रियायत भी देंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि सीएम4यूथ कार्यक्रम एक बेहतरीन कार्यक्रम है और वे इसमें अपना पूरा योगदान देंगे।
इस अवसर पर अपर स्थानिक आयुक्त एस.डी.शर्मा, सोशल मीडिया समन्वयक हरपाल सिंह रावत सहित खेल जगत से जुडे हुए अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments