निर्दलीय विधायको की राजनैतिक महाभारत के निशाने पर हरदा

0
1084

निर्दलीय विधायको की राजनैतिक महाभारत के निशाने पर हरदा

independent-mla-politics-mahabharat-attack-harda-2017

देहरादून राजनैतिक ब्लैकमेलिंग को लेकर वर्तमान मुख्यमंत्री हरीश रावत को निर्दलीय विधायको ने असहज किया हुआ है यही नहीं कांग्रेस के अंदर भी निर्दलीय विधायको को लेकर विरोध तेजी से कांग्रेस के अंदर किसी बड़े ज्वालमुखी की तरफ इशारा करता नज़र आ रहा है। बीते कई दिनों से उत्तराखंड की राजनीती में निर्दलीय विधयाको ने अपने तेवर सरकार को साफ तोर से दिखा दिए है पी डी एफ को लेकर भी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर कई बार अपना विरोध कर चुके है वही दूसरी तरफ पी डी एफ भी चुनाव लड़ने को लेकर अपनी मंशा साफ कर चूका है। २०१७ की राजनैतिक महाभारत में जाने से पहले निर्दलीय विधायको ने सत्ता धारी दल पर जिस तरह दवाब बनाया हुआ है वो कही न कही कांग्रेस के लिए किसी अग्नि परीक्षा से कम नहीं हालकि कांग्रेस हाई कमान को पी डी एफ के मामले पर फैसला लेना है। लेकिन उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत पर राजनैतिक डायनसोर हावी होते नज़र आ रहे है। सत्ता की कुर्सी पर कब्ज़ा कर चुके निर्दलीय राजनैतिक डायनसोर उत्तराखंड के लिए २०१७ की महाभारत में अपनी भूमिका को लेकर और अपना राजनैतिक वजूद बचाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे यही कारन है। की राज्य में कांग्रेस के अंदर उनका वजन हाई कमान को तय करना है लेकिन अगर पी डी एफ के विधायको को कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़वाया जाता है तो राज्य में कांग्रेस को कई जगह पर राजनैतिक नुकसान उठाना पड़ सकता है। जो हरीश रावत के लिए सत्ता की कुर्सी पर २०१७ तक पहुच पाने के समीकरण को बदल सकता है राजनैतिक पंडितो का कहना है की उत्तराखंड में सत्ता की मलाई जिस तरह से निर्दलीय विधयाको ने खा कर अपना आकर राजनैतिक डायनसोर की तरह कर लिया है। वही अब हरीश रावत के लिए राजनैतिक लक्ष्मण रेखा की तरह होता नज़र आ रहा है समय रहते उत्तराखंड में हरीश रावत को निर्दलीय विधयाको पर राजनैतिक समीकरण को सही करना होगा क्यों की हरीश रावत वर्तमान समय में निर्दलीय विधयाको की राजनैतिक महाभारत में निशाने पर बने हुए है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments