भारतीय सैन्य अकादमी में १६जेंटलमैन कैडेट्स पर कारवाही

0
806

भारतीय सैन्य अकादमी में १६जेंटलमैन कैडेट्स पर कारवाही 
देहरादून: भारतीय सैन्य अकादमी में 16 जेंटलमैन कैडेट्स को पदावनत करने का निर्णय भले छह अप्रैल 2016 को किया गया। मगर, इस विवाद की शुरुआत तीन माह पहले ही हो गई थी। तब कुछ जूनियर जेंटलमैन कैडेट्स ने सीनियर कैडेट्स पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए अकादमी प्रशासन से शिकायत की थी। इस पर कोर्ट ऑफ इंक्वायरी बैठाई गई और 16 सीनियर कैडेट्स को प्रताड़ना का दोषी पाते हुए उनकी प्रशिक्षण अवधि को छह माह पीछे कर दिया गया। इन कैडेट्स को जून 2016 में पास आउट होना था, लेकिन अब ये दिसंबर 2016 में पास आउट हो पाएंगे। हालांकि, इस प्रकरण पर आइएमए की तरफ से आधिकारिक तौर पर कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं है। 1आइएमए के विश्वस्त सूत्रों के अनुसार पीड़ित जूनियर कैडेट्स व प्रताड़ित करने वाले सीनियर कैडेट्स आर्मी कैडेट कॉलेज (एसीसी) के माध्यम से अकादमी पहुंचे। इनमें वे कैडेट्स शामिल होते हैं, जो सेना में सिपाही के रूप में भर्ती होते हैं और मेहनत के बल पर कमीशन पाकर एसीसी में प्रवेश पाते हैं। यहां से आइएमए में प्रशिक्षण पाकर उनके सैन्य अफसर बनने की राह खुलती है। बताया जा रहा है कि एसीसी में अध्ययन करते समय कैडेट्स में कई बार सीनियर-जूनियर का भाव घर कर जाता है, जो प्रशिक्षण प्राप्त करते समय अहम के टकराव के रूप में सामने आ जाता है। सूत्रों के अनुसार इन कैडेट्स में भी लंबे समय से तनातनी चल रही थी। जो तीन माह पहले खुलकर सामने आई और जूनियर कैडेट्स को अकादमी प्रशासन से शिकायत करने को विवश होना पड़ा। जांच में अधिकारियों ने न सिर्फ सीनियर को प्रताड़ना का दोषी पाया, बल्कि जूनियर की आपत्तिजनक तस्वीरें खींचने की बात भी पता चली।
सीनियर-जूनियर का विवाद नया नहीं आइएमए में सीनियर-जूनियर कैडेट्स के बीच का यह विवाद भले पहली बार खुलकर सामने आया हो, मगर अकादमी में ऐसे छिटपुट विवाद अक्सर सामने आते रहते हैं। सूत्रों के अनुसार प्रशिक्षण काल में कुछ समय के लिए सीनियर कैडेट्स जूनियर के मेंटर (मार्गदर्शक) की भूमिका में रहते हैं। यह परंपरा अकादमी के नियमों में भी शामिल है। इस दौरान वह जूनियर को सजा भी दे सकते हैं। कई बार इसे लेकर भी विवाद की स्थिति उत्पन्न हो जाती है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments