आईएएस डी सेंथिल पांडियन को जान का खतरा सुरक्षा मिली IAS OFFCAR NH 74 SCAM

0
344

आईएएस डी सेंथिल पांडियन को जान का खतरा सुरक्षा मिली:IAS OFFCAR NH 74 SCAM
देहरादून गृह विभाग ने सचिव पांडियन को सुरक्षा देने के लिए पुलिस महकमे को निर्देश जारी किए हैं। बुधवार को कार्मिक महकमे की ओर से पत्र मिलने के बाद प्रमुख सचिव गृह आनंद वर्धन ने यह आदेश जारी किए। ऊधमसिंह नगर में राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) 74 का भूमि अधिग्रहण घोटाला खोलने वाले तत्कालीन आयुक्त कुमाऊं व वर्तमान में सचिव का पदभार देख रहे डी सेंथिल पांडियन ने कुछ दिनों पूर्व अपनी जान को खतरा बताते हुए कार्मिक विभाग से सुरक्षा मुहैया कराने का अनुरोध किया था। आईएएस डी सेंथिल पांडियन को जान का खतरा सुरक्षा मिली

दरअसल, 350 करोड़ से अधिक के एनएच-74 घोटाले में कई पीसीएस समेत मिनिस्ट्रीयल कर्मचारी निलंबित हो चुके हैं। इसके अलावा इसमें कई सफेदपोश लोगों के नाम भी सामने आ रहे हैं। हालांकि, इस मामले में सबूतों से छेड़छाड़ करने के संबंध में दो शिकायतें उनके खिलाफ भी शासन को मिल चुकी हैं। शासन में इन शिकायतों का अभी परीक्षण चल रहा है। जैसे-जैसे एसआइटी की जांच आगे बढ़ रही है, इसमें कई अहम नाम सामने आ रहे हैं। इसे देखते हुए सचिव डी सेंथिल पांडियन ने कार्मिक विभाग को प्रकरण की जांच के बाद स्वयं व परिवार की सुरक्षा को खतरा बताया था और सुरक्षा की मांग की थी।

इस पर कार्मिक विभाग की ओर से गृह विभाग को सचिव डी सेंथिल पांडियन को सुरक्षा देने को पत्र लिखा गया था। यह पत्र बुधवार को प्रमुख सचिव गृह को प्राप्त हुआ। उन्होंने इस संबंध में सुरक्षा देने के लिए गठित समिति का यह मामला सौंपा है। प्रमुख सचिव गृह आनंद वर्धन ने कहा कि डीजीपी व एसएसपी को सचिव डी सेंथिल पांडियन को सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए रिपोर्ट देने को कहा गया है।
इस मामले को लेकर कांग्रेस सरकार के खिलाफ मुखर हो गयी वही सरकार ने डी सेंथिल पांडियन को सुरक्षा उपलब्ध करवा दी नेशनल हाईवे मामले को लेकर डी सेंथिल पांडियन ने ही खुलासा कर सबसे पहले कई अधिकारी से लेकर राजनेता के शामिल होने की बात कही थी जिसके बाद राज्य सरकार ने इस मामले को लेकर सीबीआई जांच किये जाने का अनुरोध केंद्र सरकार को किया हुआ है आईएएस

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।