होटल व्यवसायियों को नव वर्ष पर जिला प्रशासन से लेनी होगी मनोरंजन की अनुमति

0
154

होटल व्यवसायियों को नव वर्ष पर जिला प्रशासन से लेनी होगी मनोरंजन की अनुमति

पौड़ी क्रिसमस डे तथा नववर्ष पर होटलों में डीजे आदि संगीत उपकरणों की सहायता से मनोरंजन करने के लिए व्यवसायियों को जिला प्रशासन से पहले ही अनुमति लेनी होगी। ऐसे व्यवसायियों से मनोरंजन कर के रूप में बीस हजार रूपये का अर्थ दण्ड वसूला जा सकता है। जिलाधिकारी चंद्रशेखर भट्ट ने बताया कि जिले के कोटद्वार, लैंसडोन, यमकेश्वर आदि क्षेत्रों में बिना अनुमति के कई होटल व्यवसायियों की ओर से क्रिमसम डे तथा नववर्ष पर संगीत उपकरणों का बढ़चढ़ कर इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन इस बार जिला प्रशासन ने ऐसे होटल व्यवसायियों पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है। जिलाधिकारी ने संबंधित क्षेत्रों के उपजिलाधिकारियों को ऐसे व्यवसायियों को पहले ही आगाह करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने संबंधित एसडीएम व थाना प्रभारियों को अपने अधीनस्थ क्षेत्रों में विशेष नजर रखने को भी कहा है। उन्होंने कि कोई भी होटल व्यवसायी जिला प्रशासन से बिना अनुमति के संगीत उपकरणों का इस्तेमाल करता है तो उस पर उत्तराखंड आमोद एवं पणकर अधिनियम 1979 की धारा5 के अंतर्गत बीस हजार रूपये का अर्थदंड निर्धारित है। उन्होंने संबंधित क्षेत्रों के होटल व्यवसायियों को पहले ही जिला प्रशासन से मनोरंजन आदि के लिए अनुमति लेने को कहा है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments