हेमकुंड साहिब के कपाट शीतकाल के लिए बंद,केदारनाथ बद्रीनाथ गंगोत्री यमुनोत्री बंद तिथि

0
99

हेमकुंड साहिब के कपाट शीतकाल के लिए बंद,केदारनाथ बद्रीनाथ गंगोत्री यमुनोत्री बंद तिथि:HEMKUND CLOSE DOOR KEDARNATH BADRINATH GANGOTRI YUMUNOTRI CLOSE DATE
चमोली उत्तराखंड चारधाम यात्रा अंतिम चरण की तरफ जैसे जैसे बढ़ती जा रही है उसी तरह इस साल धामों के दर्शन किये जाने को लेकर लोगो की भीड़ भी यात्रा मार्गो में काफी देखि जा रही है दीपावली के बाद बंद होने वाले कपाट को लेकर यात्रियों की संख्या इस बार अधिक होने के संकेत मिल रहे है। HEMKUND CLOSE DOOR KEDARNATH BADRINATH GANGOTRI YUMUNOTRI CLOSE DATE

उत्तराखंड में मंगलवार को शीतकाल के लिए सिक्खों के प्रसिद्ध तीर्थ हेमकुंड साहिब के कपाट बंद कर दिए गए । इस अवसर का साक्षी बनने के लिए करीब तीन हजार श्रद्धालु हेमकुंड पहुंचे थे । गौरतलब है कि शीतकाल के लिए गंगोत्री के कपाट 20 अक्टूबर, केदारनाथ और यमुनोत्री के 21 अक्टूबर और बदरीनाथ धाम के कपाट 19 नवंबर को बंद किए जाएंगे। यात्रा मार्ग पर इस साल अभी तक पिछले वर्ष का आंकड़ा टूट चूका है चार धाम यात्रा को लेकर राज्य सरकार सुरक्षित यात्रा का सन्देश दिए जाने में जहा कामयाब रही वही देश के प्रधान मंत्री से लेकर भारत के महामाहिम तक यात्रा कर चुके है जिसके कारन उत्तराखंड राज्य को इस बार अधिक यात्रियों के कारण अधिक आय होने का भी अनुमान लगाया जा रहा है।

समुद्रतल से 15225 फीट की ऊंचाई पर स्थित हेमकुंड साहिब गुरुद्वारे में अब तक करीब सवा दो लाख श्रद्धालु मत्था टेक चुके हैं। कपाटबंदी की तैयारियों को लेकर गुरुद्वारा प्रबंधक सरदार सेवा सिंह ने बताया कि मंगलवार सुबह हुकुमनामा पाठ, शबद कीर्तन व अरदास की गयी । दोपहर 12:30 बजे साल की अंतिम अरदास के बाद गुरु ग्रंथ साहिब का हुकुमनामा लिया गया इसके बाद पंचप्यारों के नेतृत्व में गुरु ग्रंथ साहिब को दरबार साहिब लाया गया और ठीक डेढ़ बजे कपाट बंद कर दिए गए इस अवसर पर पहली सेना का बैंड भी मौजूद रहा । इसी के साथ हिंदुओं की आस्था के प्रतीक लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट भी बंद कर दिए गए।

उत्तराखंड में इस समय मौसम की ठंडक अपनी दस्तक देती हुई भी नज़र आ रही है पर्वतीय जनपदों में ठंडी हवा के साथ साथ मौसम ठंडा होता जा रहा है लगातार मौसम के ठंडा होने के कारण अब आने वाले कुछ दिनों में पहाड़ी जनपदों में ठण्ड का प्रकोप काफी अधिक हो जायेगा बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के अलावा द्वितीय केदार मद्महेश्वर और तृतीय केदार तुंगनाथ के कपाट बंद करने की तिथियां घोषित की जा चुकी हैं। इसके तहत मद्महेश्वर के कपाट 22 नवंबर और तुंगनाथ के कपाट 27 अक्टूबर को बंद कर दिए जाएंगे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments