मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लिखा पत्र

0
362

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लिखा पत्र

देहरादून मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर कहा है कि वर्तमान में जारी नई मुद्रा की उपलब्धता बहुत कम है और दो हजार रूपये के नोट से बाजार में खरीददारी करने में लोगों को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा हैै। छोटी मुद्रा की कमी के कारण आम जन एवं व्यापारी दोनो ही प्रभावित हो रहे है। पर्यटन, होटल एवं रेहड़ीपटरी वाले व छोटे व्यवसायी गम्भीर रूप से कुप्रभावित हो रहे है। हमारे जैसे उपभोक्ता प्रधान राज्य में इसका सर्वाधिक असर पड़ रहा है। शादीब्याह के सीजन मुद्रा की कमी के कारण लोगों को शादी ब्याह टालना पड़ रहा है। उन्होंने प्रधान मंत्री श्री मोदी से इस समस्या के समाधान हेतु बड़ी मात्रा में नयी मुद्रा संचालित करने का अनुरोध किया साथ ही छोटी मुद्रा को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करवाने को भी कहा। उन्होंने कहा कि पुरानी मुद्रा को भी एक निश्चित मात्रा में वैद्य घोषित किया जाए। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि मुद्रा की कमी के कारण लोगों में भारी अफरातफरी का माहौल दिख रहा है। ये माहौल कुछ समय और बना रहा तो आवश्यक वस्तुओं एवं खाद्य वस्तुओं की उपलब्धता में कमी की गम्भीर समस्या उत्पन्न होने की संभावना है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने पत्र में उल्लेख किया है कि कालेधन के खिलाफ युद्ध आवश्यक है, मगर काले धन के सौदागरों व आमजन में अन्तर करना आवश्यक है। लोगों ने अपने भविष्य के लिये खून पसीने की कमाई से पूंजी जमा की है, उसके एक हिस्से को काले धन की परिधि से बाहर रखना आवश्यक है। इस हेतु केन्द्र सरकार ऐसे धन की मात्रा घोषित करे, जिसे संचयकर्ता नये नोटों में बदल सकता है। यदि ऐसा नही किया गया तो यह मुहिम कमजोर पड़ जायेगी। मुख्यमंत्री श्री रावत ने प्रधानमंत्री से अनुरोध किया है कि उक्त प्रकरण का समाधान व्याहारिकता को देखते हुए तत्काल निकालने का कष्ट करें।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments