हरीश रावत ने सतत विकास संकल्प यात्रा में किया प्रतिभाग

0
235

हरीश रावत ने सतत विकास संकल्प यात्रा में किया प्रतिभाग

पिथौरागढ़ अपने दो दिवसीय जनपद भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा  जनपद पिथौरागढ़ मुख्यालय के स्थानीय रामलीला मैदान सदर में सतत विकास संकल्प यात्रा में प्रतिभाग किया। सरकार द्वारा शुरू की गई सतत विकास संकल्प यात्रा चम्पावत से विधायक हेमेेश खर्कवाल एवं जिला पंचायत अध्यक्ष चम्पावत खुशाल अधिकारी के नेतृत्व में जनपद पिथौरागढ़ पहुंची । जहाॅ रामलीला मैदान में एक जनसभा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। सतत विकास संकल्प यात्रा में पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उपस्थित जनता को संबोधित करते हुए कहा कि 2022 तक प्रदेश में कोई युवक बेरोजगार नहीं रहेगा, युवाओं को उद्यमों से जोड़कर उन्हें स्वरोजगार की ओर प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हर हाथ को कुछ न कुछ काम अवश्य दिया जाएगा। सत्त विकास संकल्प यात्रा पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि गाॅवों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ना और प्रदेश से गरीबी को पूर्णतः खत्म करना ही इस संकल्प यात्रा का उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि गरीबी एक अभिशाप है और निरंतर विकास कार्यों के मध्यनजर वर्ष 2020 तक गरीबी रेखा से नीचे कोई नहीं रहेगा। जनता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार विकास को आगे बढ़ाने हेतु सतत प्रयास करती आ रही है जिसमें प्रदेश की जनता के कल्याण हेतु एवं प्रदेश के विकास हेतु सरकार द्वारा अनेक योजनाएं चलाई जा रहीं हैं। उपस्थित जनता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मेरी सरकार द्वारा 42 नए महाविद्यालय जोड़ कर उच्च शिक्षा को बढ़ाने का कार्य किया है, इसके अलावा हमारे छोटे से प्रदेश में 75 पाॅलिटेक्निक और 150 आई.टी.आई खोल कर नौजवानों को तकनीकी शिक्षा का अवसर प्रदान किया है, इसके अतिरिक्त 500 नए स्कूलों को माॅडल स्कूलों में उच्चीकृत किया गया है। उन्होंने कहा कि दिसंबर तक माध्यमिक शिक्षा में सभी शिक्षकों के पद भर दिए जाएंगे और चुनाव से पूर्व 90 प्रतिशत प्रधानाचार्य की नियुक्ति कर दी जाएगी। उन्होंने बताया की प्रदेश में लगभग 30 हजार पदों पर भर्ती की जा रही हैं जिसमें से लगभग 16 हजार पद भर दिए गए हैं शेष 14 हजार पद शीघ्र ही भरे जाएंगे। उन्होंने कहा कि पिथौरागढ़ जनपद में इंजीनियरिंग काॅलेज, स्पोर्टस काॅलेज, बेस हाॅस्पिटल, नैनी सैनी हवाई पट्टी से हवाई सेवा प्रारम्भ करने का प्रयास इस सरकार द्वारा करा गया जो इस सीमान्त जनपद के विकास में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा की जनपद के महाविद्यालय को कैम्पस बनाने का प्रयास भी सरकार द्वारा कि जा रहा है ताकि उच्च शिक्षा में यह सीमान्त जनपद पीछे न रहे। सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी देते हुए सीएम ने कहा कि सरकार द्वारा अनेक पेंशन योजनाओं पात्र व्यक्तियों को दी जा रही है। वर्तमान में विभिन्न पेंशन योजनाओं केा 200 से बढ़ाकर 1000 रूपया कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान तक 7 लाख 25 हजार व्यक्तियों को पेंशन दी जा रही हैं जिसे चुनाव तक 10 लाख से अधिक लोगों को विभिन्न पेंशन से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि डंगरिया, मंगल गीत गाने वाली महिलाओं को भी पेंशन दिए जाने हैं। इसके अतिरिक्त मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पेंशन दिये जाने वाले राज्यों में उत्तराखण्ड राज्य सम्पूर्ण भारत में सर्वाधिक पेंशन देने वाला राज्य है एवं उन्हांेने कह कि उत्तराखण्ड राज्य राष्ट्रीय प्रति व्यक्ति आय के क्षेत्र में देश के अंतर्गत शीर्ष 6 राज्यों में भी सम्मीलित हो चुका है। इसके अतिरिक्त वर्ष 2017 तक उत्तराखण्ड चैबीस घंटे बिजली देने वाला राज्य भी बन जाएगा व वर्ष 2018 तक सभी ग्राम सड़कों से जुडेंगे 1000 नई सड़कों का निर्माण किया जाएगा। जनपद के विकास में क्षेत्रीय विधायक मयूख महर द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए उनके द्वारा किए गए विकास कार्यों को सीमान्त जनपद के विकास हेतु महत्वपूर्ण बताया। महिला सशक्तिकरण के संबंध में बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में महिलाओं हेतु अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिस नन्दा देवी, गौरा देवी कन्या धन योजना बालिकाओं हेतु संचालित की गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोई भी प्रसव के दौरान खून की कमी से मृत्यु की शिकार न हो पाए इस हेतु सरकार द्वारा वाॅर अगेनस्ट एनीमिया योजना प्रारम्भ की गई है। खिलती कलियां के तहत कुपोषित, अतिकुपोषित बच्चों को पुष्टाहार दिया जा रहा है तथा रूगण बच्चों के इलाज हेतु जितना भी खर्च होगा वह सरकार द्वारा वहन किया जायेगा इसके अतिरिक्त उन्होंने मेरे बुर्जुग मेरे तीर्थ योजना के बारे में भी जानकारी दी एवं महिला कल्याण के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि एस0एज0जी0 के माध्यम से महिला मंगल दलों के माध्यम से अनेक कार्य व योजनाऐं सरकार द्वारा संचालित की जा रही है एवं महिला स्वंय सहायता समूहों द्वारा कोई स्वरोजगार/बिजनेस यदि शुरू किया जाता है तो उन्हें सरकार द्वारा 20 हजार रू0 की धनराशि मुहैया करायी जायेगी एवं जो सब्जी फल, आदि चीजें उगाने वालों को मनरेगा के तहत रोजगार भी सरकार द्वारा मुहैया कराया जायेगा। इसके अतिरिक्त मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बंदरों एवं सुअरों की समस्यां से ग्रामीणों में हो रहे फसलों एवं फलों के नुकसान हेतु राज्य सरकार द्वारा 100 करोड़ की योजना से बंदरवाडे, एवं सुअरों के प्रवेश को रोकने हेतु सुरक्षा दीवार का निर्माण भी किया जायेगा। इस अवसर पर रामलीला मैदान सदर में मा0 मुख्यमंत्री द्वारा जनसमस्याओं को भी मुख्यमंत्री द्वारा सुना गया, जिसमें अतिथि शिक्षाको द्वारा मा0 मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी सौंपा गया एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्तीयों द्वारा भी अपनी समस्याओं से मा0 मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया इसके अतिरिक्त विभिन्न गा्रम सभाओं से आयी जनता द्वारा भी अपनी समस्याओं से माु0 मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया। इससे पूर्व विधायक चम्पावत हेमेश खर्कवाल, विधायक पिथौरागढ़ मयूख महर, जिलाध्यक्षत कांग्रेस कमेटी, मुकेंश पंत, जिला पंचायत अध्यक्ष खुशाल सिंह अधिकारी द्वारा भी उपस्थित जनता को संबोधित कर विकास कार्यों की विस्तारपूर्वक जानकारी भी दी गयी। इस अवसर पर, विधायक मयूख महर, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रकाश जोशी, उत्तराखण्ड संस्कृति धर्मस्व तीर्थाटन विकास परिषद् के उपाध्यक्ष हरीश उपाध्याय, कांग्रेस जिलाध्यक्ष मुकेश पंत, नगरपालिका अध्यक्ष जगत सिंह खाती, जिलाधिकारी रंजीत कुमार सिन्हा उपजिलाधिकारी सदर संतोष कुमार पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक, अजय जोशी, समेत स्थानीय जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक एवं जनता उपस्थित थी।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments