हरीश रावत ने साधूराम इण्टर कालेज,में विकास योजनाओं का निर्माण किया

0
325

हरीश रावत ने साधूराम इण्टर कालेज,में विकास योजनाओं का निर्माण किया

 देहरादून गुरूवार को साधूराम इण्टर कालेज, जीएमएस रोड में मुख्यमंत्री हरीश रावत ने विभिन्न विकास योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। लोकार्पित की गई योजनाओं में लोक निर्माण विभाग के तहत कैंट विधानसभा क्षेत्र में इंजीनियर एंकलेव के आंतरिक मार्ग का निर्माण (लागत 112.32 लाख रू.), कानिंदी एन्कलेव में क्षतिग्रस्त सड़क व नालियों का पुनर्निर्माण (लागत 104.23 लाख रू.), पेयजल निगम के तहत मातावाला बाग पेयजल योजना(लागत 408.33 लाख रू.), जलसंस्थान के तहत गांधीग्राम में उच्च जलाशय के निकट नलकूप निर्माण एवं राईजिंग मेन संबंधी कार्य, बसंत विहार इंदिरा नगर, सद्भावना कुंज व प्रेम नगर आदि स्थानों में सड़क निर्माण व चैक के सौंदर्यीकरण कार्यों का शिलान्यास/ लोकार्पण किया गया। इसी प्रकार गांधीग्राम में आंतरिक सड़कों का पुनर्निर्माण(लागत 85.66 लाख रू.) का भी शिलान्यास किया गया। मुख्यमंत्री श्री रावत ने बहुउद्देशीय शिविर का भी उद्घाटन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य में समाज कल्याण विभाग द्वारा 7 लाख 13 हजार से अधिक लोगों को विभिन्न पेंशनों से लाभान्वित किया जा रहा है। लक्ष्य आगामी एक माह में इसे 8 लाख करने का है। साथ ही अगले वर्ष से पेंशन लेने वाले लाभार्थियों की संख्या को बढ़ाकर 10 लाख करने का लक्ष्य रखा गया है। हमारी प्राथमिकता है कि राज्य सरकार द्वारा संचालित की जा रही जन कलयाणकारी योजनाओं का लाभ हर वर्ग को मिले। हर गरीब के चेहरे पर मुस्कुराहट हो। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना से प्रत्येक व्यक्ति को बीमारी के इलाज के लिए 1 लाख 75 हजार रूपये तक का कवर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा मलिन बस्तियों को मालिकाना हक दिया जा रहा है, इस हेतु राज्य सरकार द्वारा पट्टे देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। उन्होंने कहा कि मलिन बस्तियों को मालिकाना हक हर हाल में दिया जायेगा, अब इसे कोई रोक नही सकता है। इस हेतु रू.400 करोड़ के काॅरपोस फण्ड की भी व्यवस्था की जा रही है। जिसमें से इस वर्ष 40 करोड़ रूपये का प्राविधान किया गया है, जो कि मलिनबस्तियों के सुधार में खर्च किये जायेंगे। प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं कि प्रमाण पत्र वितरण में कोई कोताही नही होनी चाहिए। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि महिला स्वयं सहायता समूहों को 5 हजार रूपये वेकअप मनी के रूप में दिये जा रहे है। जो महिला स्वयं सहायता समूह काम कर रहे है उन्हें 20 हजार रूपये का अनुदान दिया जा रहा है। जो महिला स्वयं सहायता समूह गांव की जमीन को लीज पर लेकर सामूहिक उत्पादन/खेती करना चाहते हो, उन्हें 1 लाख रूपये का अनुदान दिया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा सस्ते गल्ले की दुकानों में बी.पी.एल. राशन कार्ड धारकों के लिए अन्न सुरक्षा कानून लागू किया गया हैं। ए.पी.एल राशन कार्ड धारकों के लिए राज्य सरकार द्वारा गेहूं एक रूपये सस्ता कर दिया गया है। देश में सबसे सस्ता गेहूं ए.पी.एल. राशन कार्ड में उत्तराखण्ड में मिल रहा है। इस बात की सम्भावना पर विचार किया जा रहा है कि सस्ते गल्ले की दुकानों में लोगों को सस्ता तेल, दाल व नमक मिले। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्यवासियों को सस्ती दरों पर  बिजली व पानी उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा वाटर एटीएम लगवाये गये है। इस योजना को और अधिक व्यापक कियजा रहा है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक महिलाएं किसी न किसी योजना से लाभान्वित हो रही हैं। जिसमें अन्न प्रासन्न योजना व खिलती कलियां योजनाएं शामिल है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि बीमार बच्चों के इलाज का खर्च सरकार उठाएगी। कुपोषित बच्चों को सप्लीमेंट के रूप में सप्ताह में दो दिन 200 मी.ली. दूध दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गर्भवती महिलाओं को भी दूध देने की योजना बनायी जा रही है। 12 वर्ष से अधिक की लड़कियों को सैनेटरी नेपकिन दिये जाने की योजना बनायी गई है। महिलाओं में खून की कमी न हो, ल्युकेरिया/एनिमिया इसके लिए भी अभियान चलाया गया है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि महिलाओं की डिलीवरी के बाद जच्चाबच्चा 48 से 60 घण्टे तक अस्पताल में रहंे इसके भी निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिये जा चुके है। विकलांग बच्चों को 500 रूपये प्रतिमाह पोषण भत्ता दिया जा रहा है। 60 वर्ष से अधिक के बुजुर्गों के लिए टेक होम राशन की व्यवस्था की गई है। मेरे बुजुर्ग मेरे तीर्थ योजना भी राज्य सरकार द्वारा संचालित की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि घंघरिया से हेमकुंट साहिब तक लिफ्ट लगवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि हेमकुंट साहिब में बिजली के कनेक्शन को डोमेस्टिक कनेक्शन में परिवर्तित किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा 30 हजार युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही बैकलाॅग के पदों पर भी नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि इस बार 15 लाख से अधिक लोग चारधाम यात्रा पर आए है। 2014 में जैसा उत्तराखण्ड था अब उत्तराखण्ड की तस्वीर बदल गई है। कांवड एवं अर्द्धकुम्भ 2016 का भी सफल आयोजन हमारे द्वारा किया गया है। उन्होंने कहा कि सुरक्षित उत्तराखण्ड का संदेश देश व दुनिया में गया है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि हमारा राज्य तेजी से विकास करने वाले 6 राज्यों की सूची में आ गया है। हमारी विकास दर 12.5 प्रतिशत एवं कृषि विकास दर 5.5 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि मेट्रो काॅरपोरेशन का गठन किया गया है। रिवर फ्रन्ट योजना भी शुरू की गई है। सौंग नदी में भी रिवर फ्रन्ट बनाएंगे। उन्होंने कहा कि रायपुर क्षेत्र में अन्तर्राष्ट्रीय स्टेडियम तैयार होने से रायपुर क्षेत्र की नई तस्वीर बन चुकी है, रायपुर क्षेत्र सुंदर बन गया है व खेल नगर के रूप में विकसित हो रहा है। उन्होंने कहा कि देहरादून की सुन्दरता को बनाए रखने के लिए पार्क विकसित किये जा रहे है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के सलाहकार राजीव जैन, मुख्य विकास अधिकारी बंशीधर तिवारी, सूर्यकांत धस्माना, लाल चंद सहित अधिकारी व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments