हरीश रावत की चाय पर चर्चा ग्रास रूट तक विकास की किरण सरकार का रोड मैप

0
624

देहरादून मुख्यमंत्री हरीश रावत रविवार को गांधी पार्क में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के बाद राजपुर रोड़ पर एक चाय की दुकान पर रूके। मुख्यमंत्री श्री रावत ने चाय की दुकान चलाने वाली महिला से पूछा कि क्या नाम है, आपका। महिला ने बताया कि मेरा नाम कमला देवी है। मुख्यमंत्री श्री रावत को अपनी दुकान में पाकर कमला देवी काफी अचम्भित दिखी। कमला देवी ने मुख्यमंत्री से उनकी पसंद की चाय पूछी और फिर बिना दूध की ब्लैक टी. बनायी। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ सचिव वित्त अमित नेगी और पुलिस महानिदेशक बी.एस.सिद्दू ने भी चाय पी। मुख्यमंत्री श्री रावत ने चाय पीने के साथ ही सचिव अमित नेगी के साथ चर्चा भी की। उन्होंने सचिव वित्त को निर्देश दिये कि राज्य में राजस्व आय के नये क्षेत्रों को चिन्हित किया जाय। ग्रास रूट क्षेत्र तक विकास की किरण पहुंचनी चाहिए। सभी विभागों से योजनावार विवरण तैयार कराया जाय। सचिव वित्त ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि केन्द्र सरकार द्वारा फंडिंग पैटर्न में बदलाव किया गया है, उसका विस्तृत शासनादेश अभी प्राप्त नही हुआ है, लेकिन प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ योजनाओं में 90ः10 व 80ः20 अनुपात में फंडिंग पैटर्न का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि सभी विभागों से 90ः10 और 80ः20 अनुपात वाली योजनाओं का विवरण तैयार करा लिया जाय। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य के पास सीमित संसाधन है, इसलिए राजस्व वृद्धि के लिए नये क्षेत्रों को भी चिन्हित किया जाय।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने डी.पी.पी पुलिस को निर्देश दिये कि शहर में कुछ स्थान ऐसे चिन्हित किये जाय, जहां पर सड़क किनारे साइकिल लेन बन सके। साथ ही बुजुर्ग लोग भी वाॅक कर सके। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि शहर में बुजुर्गजन के लिए पार्क भी विकसित किये जाय। जहां पर उनके मनोरंजन व खेल संबंधि अन्य गतिविधियों के लिए पूरी व्यवस्था की जाय। बैठने की पर्याप्त सुविधाजनक व्यवस्था हो।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने चाय पीने के बाद चाय की दुकान चलाने वाली महिला कमला देवी से धन्यवाद भी किया और उसको चाय के पैसे भी दिये।
इसके बाद मुख्यमंत्री श्री रावत का काफिला पवेलियन ग्राउण्ड के लिए चला। पवेलियन ग्राउण्ड के लिए जाते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने अपने काफिले को घंटाघर पर रूकवाया और वहां खड़े मजदूरों से उनकी कुशलक्षेम पूछी। मुख्यमंत्री श्री रावत ने मजदूरों से पूछा कि उनके लिए सरकार द्वारा जो योजनाएं बनायी गई है, उनकी जानकारी उनको है कि नही। मजूदरों द्वारा पंजीकरण कार्ड बनाया गया है कि नही। कुछ मजदूरों ने बताया कि उनका पंजीकरण कार्ड बनाया गया है। कुछ मजदूरों ने पानी, शौचालय व शेड की समस्या से अवगत कराया। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा श्रमिकों के कल्याण के लिए योजना बनायी गई है। इसके तहत मजदूरों को घायल होने, किसी दुर्घटना में मृत होने पर आर्थिक सहायता दिये जाने का प्राविधान किया गया है। उन्होंने कहा कि मजदूरों को उनकी लड़कियों की विवाह आदि के लिए भी सहायता दी जा रही है। श्रमिकों को टूल किट भी दी जा रही है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि सरकार द्वारा मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना भी शुरू की गई है। इसका लाभ श्रमिक भाई भी उठा सकते है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने घंटाघर पर बने शौचालय का भी निरीक्षण किया।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments