हरिद्वार अर्द्ध कुम्भ उमड़ा आस्था का जन सैलाब

0
434

हरिद्वार अर्द्ध कुम्भ उमड़ा आस्था का जन सैलाब

हरिद्वार अर्द्ध कुम्भ मेले के द्वितीय स्नान पर्व सोमवती अमावस्या पर कुंभ नगरी में देर सायं तक लगभग 25 लाख से अधिक श्रद्धालु गंगा स्नान कर चुके थे। मेला प्रशासन एवं पुलिस द्वारा किए गए चाक-चैंबद प्रबंधों के चलते अर्द्धकुम्भ का दूसरा स्नान सुव्यवस्थित एवं शंतिपूर्वक ढंग से संपन्न हो गया। आज संपन्न स्नान को लेकर किए गए इंतजामों पर अखाड़ों, साधु-संतों एवं श्रद्धालुओं ने संतोष व्यक्त करते हुए अर्द्धकुम्भ मेला को लेकर सरकार के प्रयासों की सराहना की है।
अर्द्धकुम्भ मेला के द्वितीय स्नान पर्व सोमवती अमावस्या के अवसर पर गंगा में स्नान कर पुण्य अर्जित करने के लिए रात्रि दो बजे से ही स्नानार्थियों के द्वारा हरकी पैड़ी सहित अन्य घाटांें पर गंगा में डुबकी लगाने का सिलसिला प्रारंभ हो गया था। देश के विभिन्न हिस्सों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु हरिद्वार पहंुचे तथा विदेशों के भी काफी श्रद्धालु अर्द्धकुम्भ के दूसरे स्नान के साक्षी बने। दिन ढलने तक गंगा में डुबकी लगाने वाले श्रद्धालुओं का आंकड़ा पच्चीस लाख को भी पार कर गया।
दूसरे स्नान पर्व को निर्विघ्न एवं सुव्यवस्थित तरीके से संपन्न कराने के लिए मेला प्रशासन एवं पुलिस के द्वारा व्यापक इंतजाम किए गए थे। केन्द्रीय नियंत्रण कक्ष से मेला के सभी प्रमुख क्षेत्रों एवं क्षण-प्रतिक्षण की गतिविधियों की निगरानी की जाती रही। मेलाधिकारी एस.ए.मुरूगेशन एवं पुलिस महानिरीक्षक जी.एस.मर्तोलिया ने भी हरकीपैड़ी सहित अनेक क्षेत्रों में जाकर सुरक्षा एवं अन्य इंतजामों का जायजा लिया और मेले की गतिविधियों की पल-पल की जानकारी लेते हुए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश जारी किए।
दूसरे स्नान को लेकर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे। मेला क्षेत्र में चप्पे-चप्पे पर बड़ी संख्या में पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों के कर्मियों की तैनाती की गई थी। मेले के प्रमुख केन्द्र हरकी पैड़ी के प्रवेश द्वारांे पर लगाए गए पुलिस व अभिसूचना इकाई के जवानों द्वारा प्रत्येक व्यक्ति की चैकिंग की गई तथा ड्रोन कैमरा, फेस डिटेक्शन सुविधा से युक्त सीसीटीवी सर्विलांस जैसी अत्याधुनिक निगरानी तंत्र की मदद से कंट्रोल रूम से भीड़ प्रबंधन एवं संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने की व्यवस्था की गई थी। आतंकवादी निरोधक दस्ता तथा क्यू.आर.टी. को भी हाई अलर्ट पर रखा गया था। बम निरोधक दस्ता एवं डाॅंग स्क्वाड द्वारा भी लगातार हरकी पैड़ी सहित विभिन्न स्नानघाटों पर सघन चैकिंग की जाती रही। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए यातायात, परिवहन, स्वास्थ्य, पेयजल आपूर्ति व विद्युत व्यवस्था तथा सफाई एवं शौचालयों की व्यवस्था तथा अंन्य इंतजामों को सुचारू बनाए रखने के लिए संबंधित विभागों के नोडल अधिकारी निरीक्षण करते रहे व कंट्रोल रूम से जानकारी प्राप्त करते रहे।
मेलाधिकारी एस.ए.मुरूगेशन एवं पुलिस महानिरीक्षक जी.एस.मर्तोलिया ने द्वितीय स्नान को सकुशल संपन्न होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि यह श्रद्धालुओं के सहयोग तथा मेला की व्यवस्थाओं में जुटे कर्मियों एवं सुरक्षा बलों के अथक प्रयासों का परिणाम है। उन्होंने भरोसा जताया कि मेला कर्मी व सुरक्षा बल इसी भंांति आगामी दिनों में भी मेला को संपन्न कराने में जुटे रहेंगे।
मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अर्द्धकुम्भ मेला के दूसरेे स्नान सोमवती अमावस्या के सफलतापूर्वक संपन्न होने पर सभी श्रद्धालुओं एवं मेले से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों, सुरक्षाकर्मियों को बधाई दी है। उन्होंनंे कहा कि मेले से जुड़े अधिकारी और कर्मचारी इसी मनोयोग से जुटे रहें ताकि मेला को सुव्यवस्थित, सुरक्षित एवं सफलतापूर्वक आयोजित करने के लिए राज्य सरकार के प्रयास सार्थक हों।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मेले के दूसरे स्नान पर्व पर लाखों श्रद्धालुओं का आगमन प्रदेश के लिए सुखद और गौरव का विषय है। मेले में श्रद्धालुओं के लिए की गई व्यवस्था भविष्य के आयोजनों के लिए भी यादगार रहेगी। उन्होंने शीतकालीन चारधाम यात्रा के लिए भी श्रद्धालुओं को आमंत्रित करते हुए कहा कि हम सुरक्षित उत्तराखण्ड का संदेश देश-विदेश में पहुंचाने में सफल रहे हैं।
bhadas4india देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल www.bhadas4india.com की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments