ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार योजनाओं का व्यापक प्रचारप्रसार के निर्देश

0
544

ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार योजनाओं का व्यापक प्रचारप्रसार के निर्देश

अल्मोड़ा विभागीय कार्यक्रमों एवं योजनाओं का व्यापक प्रचारप्रसार करना सुनिश्चित किया जाय ताकि ग्रामीण स्तर पर लोगों को इसका अधिक से अधिक लाभ मिल सके यह निर्देश राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार एवं अनुश्रवण परिषद के मा0 उपाध्यक्ष बिट्टू कर्नाटक ने मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में आयोजित एक बैठक के दौरान सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि मुख्य चिकित्साधिकारी यह सुनिश्चित करें कि जनपद में जो भी विभागीय कार्यक्रम संचालित किये जाते है उनकी मासिक प्रगति रिर्पाेट का प्रचारप्रसार किया जाय। उन्होने कहा कि प्रचारप्रसार की कमी के कारण विभाग द्वारा संचालित कार्यक्रमों का लाभ आम जनमानस तक नही मिल पाता। उपाध्यक्ष ने निर्देश दिये कि राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन का प्रमुख उदेश्य ग्रामीण अंचलों तक स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाना है इस ओर राज्य सरकार बेहद गम्भीर है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ समय से ग्रामीण क्षेत्रों की स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार हुआ है लेकिन इस ओर अभी और कार्य करना बाकी है। उपाध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा जल्दी ही आयुष, फार्मासिस्ट और होम्योपैथी में डाक्टरों की भर्ती शुरू कराने जा रही है जिससें डाक्टरों की कमी को पूरा किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि सरकार ग्रामीणों के द्वार कार्यक्रमों के अन्तर्गत ब्लाक स्तर पर कैम्प के माध्यम से भी स्वास्थ्य सेवाओं के बेहतर बनाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। उपाध्यक्ष ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत 18 लाख छात्रछात्राओं का परीक्षण कराया गया है जिसमें 73 हजार बच्चें बीमार पाये गये इनमें से 5 हजार बच्चों को हृदय से सम्बन्धित बीमारियाॅ पायी गई जिनका अस्पतालों में निःशुल्क इलाज कराया गया है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं में लापरवाही को गम्भीरता से लिया जायेगा साथ ही अच्छे कार्य करने वाले अधिकारी व कर्मचारी को पुरस्कृत भी किया जायेगा। उन्होंने कहा कि जनपद में मातृृ एवं शिशु मृत्यु दर कि दिशा में और अधिक गम्भीर होने की आवश्यकता है इनके लिये उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इसमें कमी लाने के लिये ठोस कार्य योजना तैयार की जाय। उपाध्यक्ष ने कहा कि जल्दी ही मेडिकल कालेज में कक्षायें प्रारम्भ होने जा रही है जिसके परिणाम स्वरूप स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि इसमें अध्ययनरत डाक्टरों से ग्रामीण क्षेत्रों में सेवायें ली जायेंगी जिसका प्रभाव स्पष्ट रूप से देखने को मिलेगा। बैठक के दौरान पावर पांइट के माध्यम से उन्होंने विभागीय कार्यक्रमों एवं क्रियाकलापों की जानकारी ली और आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस दौरान बैठक में अवगत कराया गया कि अस्पतालों में कई मशीनें लम्बे समय से बन्द पडी है और अस्पतालों में गन्दगी कि शिकायत मिलती रहती है इस पर उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को ऐसी मशीनों की सूची उपलब्ध कराने के साथ ही अस्पतालो में औचक निरीक्षण करने के निर्देश दिये। इस बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आर0सी0 पंत ने आश्वस्त कराया कि जो भी दिशानिर्देश प्राप्त हुये है उनका कढाई से पालन सुनिश्चित किया जायेगा साथ ही अधीनस्थों को भी सुधार लाने के लिये निर्र्देशित किया जायेगा। इस दौरान अपर मुख्यचिकित्साधिकारी डा0 ए0के0 सिंह, डा0 सविता हयांकि, डा0 निशा पाण्डे, डा0 एस0बी0ओली, डा0 डी0एस0 नेई, व्यापार मण्डल के दीपेश जोशी, टैक्सी यूनियन अध्यक्ष शैलेन्द्र तिलारा, अमन अंसारी, निजाम कुरैशी, राकेश बिष्ट, गौरव काण्डपाल, हेम जोशी, दीपक भट्ट सहित समस्त प्रभारी चिकित्साधिकारी और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी उपस्थित थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments