गोरखा बहुरंगी संस्कृति का अटूट सितारा मुख्यमंत्री

0
606

देहरादून गोरखा उत्तराखण्ड के गौरव हैं। वे वीरता व शौर्य की अनुपम मिसाल हैं। गोरखाओं की वीरता का इतिहास उत्तराखण्ड की वीरता का भी इतिहास है। शुक्रवार को गढ़ी कैंट में द्विशताब्दी महोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि बोलते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि गोरखा भाईयों ने हमेशा राष्ट्रनिर्माण व देश के लिए समर्पण की सोच रखी है। ये हमारी बहुरंगी संस्कृति का अटूट सितारा हैं जिसकी रोशनी में हम अपनी संस्कृति व इतिहास को देखते हैं।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि हम उत्तराखण्ड की ओर से भरोसा दिलाना चाहते हैं कि जहां भी जरूरत होगी पूरा राज्य उनके साथ खड़ा होगा। गोरखा भाईयों ने देश के लिए हमेशा अपना सर्वोच्च बलिदान किया है। हमे आशा है कि नौजवान पीढ़ी अपने बड़ों के इहिास से प्रेरणा लेगी और अधिक बेहतर करेगी। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि वे इस माह अपने आवास पर गोरखा समाज का आभार व्यक्त करने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन करेंगे।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने समाज में अमूल्य योगदान देने के लिए गोरखा समाज की विशिष्ट विभूतियों को सम्मानित किया। इस अवसर पर एक स्मारिका का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम में ब्रिगेडियर पीएस गुरूंग, ले.ज. शक्ति गुरूंग, ले.ज.आरएस प्रधान, ले.ज.टीपीएस रावत, गोदावरी थापली, माधव गुरूंग सहित अन्य विशिष्टजन मौजूद थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments