गैरसैंण राजधानी बनाए जाने की वकालत

0
473

गैरसैंण राजधानी बनाए जाने की वकालत

उक्रांद ब्लाक इकाई की बुधवार को पार्टी कार्यालय में हुई बैठक में प्रदेश की स्थायी राजधानी गैरसैंण बनाए जाने की पुरजोर वकालत की गई। कहा गया कि राज्य को बने 16 साल हो गए हैं, लेकिन आज भी स्थायी राजधानी का मसला ठंडे बस्ते में पड़ा है। वक्ताओं ने इसे जनभावनाओं के साथ खिलवाड़ बताया। बाद में राज्यपाल के नाम तहसील समन्वयक को तीन सूत्रीय मांगों पर आधारित एक ज्ञापन भी सौंपा।
संगठन जिलाध्यक्ष गजेंद्र सिंह नेगी ने आज तक कोई ठोस रोजगार नीति न बन पाने से गांवों से पलायन बढ़ता जा रहा है। शिक्षित युवा परेशान हैं। उन्होंने प्रदेश कांग्रेस सरकार पर क्षेत्रीय जनसमस्याओं की अनदेखी करने का भी आरोप लगाया। लंबित समस्याओं पर चर्चा करते हुए सीएचसी चौखुटिया को पीपीपी मोड़ से मुक्त न किए जाने पर तीव्र रोष व्यक्त किया गया। मांग की गई कि शीघ्र ही अस्पताल को सरकारी व्यवस्था में संचालित किया जाए।
बाद में तहसील समन्वयक बलवंत सिंह कठायत को तीन सूत्रीय ज्ञापन भी दिया। इस दौरान गजेंद्र नेगी के अलावा ब्लाक अध्यक्ष आनंद किरौला, श्याम सिंह मेहरा, नारायण तिवारी, राम बहादुर, कुंदन राम, शंकर राम, नरेंद्र मेहरा व मोहन सिंह आदि मौजूद थे

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments