जीडीपी शिक्षा पर खर्च भारत में केरल के बाद दूसरे नंबर पर उत्तराखण्ड सरकार

0
416

जीडीपी शिक्षा पर खर्च भारत में केरल के बाद दूसरे नंबर पर उत्तराखण्ड सरकार

देहरादून मुख्यमंत्री हरीश रावत ने राजा राममोहन राय एकेडमी के वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह को दीप प्रज्जवलित कर शुभारम्भ किया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री श्री रावत ने विशेष योग्यता रखने वाले छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया। अपने अभिभाषण में मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि ये पुरस्कार छात्र-छात्राओं को प्रेरित करते हैं और आगे बढ़ने का हौसला देते हैं।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि आज का युग कम्पीटेटिव हो गया है। उसमें भी कम्पीटेटिव एक्सीलेंस की जरूरत होती है। हमें फस्र्ट में भी फस्र्ट आना होता है। आपकी कोशिश होनी चाहिए कि आप हर दौड़ में आगे दिखाई दें। जिस प्रकार के बदलाव हो रहे हैं हमें भी खुद को उनमें ढालना होगा। इसके लिये अभिभावकों को भी आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार की कोशिश है कि उत्तराखण्ड में शिक्षा के स्तर को ऊपर उठाया जाए। सरकार ने शिक्षा के लिये एक पाॅलिसी तैयार की है। यदि प्राईवेट शिक्षण संस्थान इसमें आगे आना चाहें तो सरकार उनकी हर सम्भव सहायता करने को तैयार है। उत्तराखण्ड सरकार अपनी जीडीपी का एक बहुत बड़ा हिस्सा शिक्षा पर खर्च कर रही है जो कि पूरे भारत में केरल के बाद दूसरा स्थान रखते हैं। हमारे उत्तराखण्ड में 20000 के आबादी के पीछे एक टेक्निकल काॅलेज उपलब्ध है। और करीब दो दर्जन टेक्निकल काॅलेज उत्तराखण्ड में हैं। आज हमारी कोई ग्राम सभा बिना विद्यालय के नहीं है। यहाँ तक कि कहीं कहीं तो छात्रों की कमी है। फिर भी अभी शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार की आवश्यकता है। सरकार की कोशिश है कि बच्चों को क्वालिटी ऐजुकेशन दी जाय। इसके लिये शिक्षकों के साथ-साथ अभिभावकों को भी आगे आना होगा। बच्चा विद्यालयों में तो मात्र 6 घंटे ही व्यतीत करता है बाकि के 18 घंटे तो वह अपने आस पास के माहौल से सीखता है। बच्चा अच्छी बातें सीखे इसके लिये उसके आसपास का माहौल सुधारना होगा और इसके लिये अभिभावकों की साथ की आवश्यकता है।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने प्रदेश के सीनियर सिटीजन से भी अनुरोध किया कि वे भी राज्य के विकास और शिक्षा के स्तर के सुधार में सहयोग दें। यदि हम अपने आस पास के माहौल को सुधारेंगे तो हमारे जीवन में भी खुशहाली आएगी। देहरादून को हम बेहतर दून बनाने की कोशिश कर रहे हैं। हमारी कोशिश है कि हम मूलभूत सुविधाओं का विकास करें। हम दून में बहने वाली नदियों की स्थिति सुधारने की भी कोशिश कर रहे हैं। पब्लिक ट्रांसपोर्ट व शहर के चैराहों को भी सुधारने के लिये कार्य किया जा रहा है। हमारी कोशिश है कि हमने जो स्मार्ट सिटी का प्रस्ताव भेजा है उसको मंजूरी मिल जाए।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments