गैरसैण में राजधानी का मामला गरमाया भाजपा कांग्रेस आमने सामने

0
319

गैरसैण में राजधानी का मामला गरमाया भाजपा कांग्रेस आमने सामने

गैरसैण विधानसभा सत्र को लेकर आज विपक्ष ने गैरसैण में राजधानी बनाये जाने की मांग को लेकर जमकर हंगामा किया गैरसैण में सत्र सुरु होने के बाद राजधानी के मुद्दे को लेकर भाजपा के कुछ विधायको ने हंगामा सुरु किया लेकिन विधानसभा अध्य्क्ष ने उनकी बात को प्रश्न काल के बाद सुने जाने की बात कही जिस के बाद गैरसैण में प्रश्न काल सुरु हुआ जहा शिक्षा,परिवहन,सहित कई दूसरे विभाग के सवालो का जंवाब सरकार के मंत्री देते नज़र आये सदन में प्रश्न काल के बाद विपक्ष ने ज़िलों की माग को लेकर हंगामा सुरु कर दिया विपक्ष के विधायक हंगामा करते हुए वेळ में आ गए और काफी देर तक विधानसभा अध्यक्ष विपक्षी विधयाको को अपनी जगह पर बैठने का अनुरोध करते रहे लेकिन विपक्ष के विधायको ने उनकी बात को नहीं सुना हंगामे के बीच ही सरकार ने कई विधयेक सदन के पटल पर रख कर पास करवा लिए नेता सदन ने विधानसभा में बोलते हुए कहा की सरकार विकाश कार्यो के साथ साथ जनहित के मामलो पर अपना काम कर रही है लेकिन विपक्ष गैरसैण में अपनी राजनैतिक बयान बाज़ी को जिस तरह अंजाम दे रहा है वो कही भी जनहित नज़र नहीं आता मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा की गैरसैण के मामले को लेकर सरकार अपना काम कर रही है और सरकार का विजन पूरी तरह सकरात्मक दिशा में चल रहा है

नए ज़िलों को लेकर सरकार ले सकती है बड़ा फैसला

उन्होंने कहा की भाजपा अपना गैरसैण में राजधानी के मामले को उजागर करे की उसका विजन इस मामले में क्या है वही दूसरी तरफ भाजपा के नेता प्रतिपक्ष अजय भट ने कहा की सरकार का विजन गैरसैण को राजधानी बनाये जाने को लेकर जो भी होगा भाजपा पूरी तरह सरकार का समर्थन करेगी इस मामले को लेकर गैरसैण में पहला दिन पूरी तरह राजनैतिक बयान बाजी करता नज़र आया वही खबर है की सरकार गैरसैण में नए ज़िले बनाये जाने के मामले अर अपना विजन दे सकती है खबर है की सरकार नए ज़िलों को लेकर घोषणा कर सकती है वही राजधानी के मामले को लेकर प्रस्ताव लाने पर भी विचार कर रही है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments