बागियों का ग्रह प्रवेश भाजपा में ग्रह क्लेश

0
796

बागियों का ग्रह प्रवेश भाजपा में ग्रह क्लेश
नारायण परगाई
देहरादून कांग्रेस के बागी बने भाजपा के नए नवेले भगवा धारी इन दिनों भाजपा की सवारी में जहां अपने को राजनैतिक रूप से मजबूत समझ रहे है वही भाजपा में इनका गृह प्रवेश भाजपा के लिए नयी परेशानी का सबक बन गया है यही नहीं कई जगहों पर भाजपा के अपने ही इन नए नवेले लोगो के विरोध में उतर आए है भाजपा के लिए सबसे जयदा अब इन नो लोगो पर अपने भाजपा के लोगो को एक जुट किये रखने का दवाब भी होगा यही नहीं भाजपा के लिए अब इनका ग्रह प्रवेश अपने परिवार को ग्रह क्लेश से रोक कर किस तरह २०१७ के राजनैतिक मैदान को फतह करने का होगा ये भी उत्तराखंड भाजपा के लिए किसी महाभारत से कम नहीं
भाजपा का विस्फोट बनेंगे बागी नो विधायक
कांग्रेस के 9 बागी विधायको को भाजपा ने अपने गले से लगा तो लिया है । लेकिन ये नौ बागी विधायक कही भाजपा के अंदर ही किसी दूसरे विस्फोट का कारण ना बन जाए । क्योकी पार्टी के अंदर पहले से ही उऩके आने को लेकर खलबली थी अब हर कोई सोच रहा है कि इनके आने के बाद अब क्या होगा । कुछ ऐसा ही हाल पार्टी के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री और हरक सिंह रावत के रिशतेदार मातबर सिंह कण्डारी का है । पिछले चुनावों में वो हरक सिंह से रुद्रप्रयाग विधानसभा में मात खा चुके है । वो बागियों को हिदायत देते हुए कह रहे है कि पार्टी में जो कोई भी आए लेकिन उसका अनुशासित होना बेहद जरुरी है । वो बागियों को ये भी याद दिला रहें है कि भाजपा एक अनुशासित पार्टी है और यहाँ जो भी रहता है उसे अनुशसन के दायरें में ही रहना होगा ।
दरअसल पिछले बार के विधानसभा चुनावों में हरक सिह रावत ने मातबर सिंह कण्डारी को मात दी थी । और ये दोनों आपस में रिशते दार भी है । लेकिन कण्डारी हरक से इतने नाराज है कि अपना रिशतेदार मानने से भी इंकार कर रहे है । दरअसल ये हाल हर सीट पर है । भाजपा के लिए इन लोगो को अगर नए नए भाजपाई बने इन लोगो एडजस्ट करना है तो उऩके सामने अपने पुराने भाजपाईयों को रुष्ट करना होगा । हर सीट पर यही हाल है । अगर बात हरक सिंह रावत की करें तो वो अपनी मौजूदा सीट छोड कर धर्मपुर ,सहसपुर,या फिर लैंसडाउन में से एक सीट से टिकट माँग रहे है । सहसपुर और लैसडाउन में तो भाजपा के मौजूदा विधायक है । जिसमें लैसडाउन से दीलिप सिंह रावत है तो सहसपुर से सहदेव सिंह पुणडीर । वही धर्मपुर से देहरादून के मौजूदा भाजपा के मेयर विनोद चमौली टिकट के प्रबल दावेदार है । और अगर रुद्रप्रायग से वो लडते है तो मातबर सिंह कण्डारी यहां से ताल ठोक रहे है ।

अब बारी केदारनाथ विधानसभा की है जहाँ से कांग्रेस की बागी विधायक शैला रानी रावत भाजपा में आई है । यहाँ से पिछले बार कि विधायक आशा नौटियाल अपना झंडा गाढे बैठी है ।
रुडकी से सुरेश चंद्र जैन पहले से ही भाजपा के झंडे को बुलंद कर रहे है । लेकिन अब प्रदीप बत्रा के आने से यहाँ पर भाजपा के घर में खलबली हो सकती है ।
टिहरी जिले के नरेंद्र नगर से भाजपा के युवा तुर्क ओम गोपाल रावत सुबोध उनियाल के लिए सीट छोड दें ऐसे हालात तो बिल्कुल नही है ।
सतपाल महराज के आने से अमृता रावत को तो पहले से ही भाजपा वाले भाजपाई मान चुके है । ऐसे में रामनगर से दिवान सिंह बिष्ट जो पुराने विधायक है अमृता को शायद हजम ना कर सकें ।

विजय बहुगुणा सितारगंज से विधायक रहें है और वो अपने बेटे के लिए टिकट मांग रहे है । लेकिन ऐसे में खांटी भाजपाईयों के लिए इन दोनो ही नामों को पचा पाना मुशकिल होगा इस सीट पर बंगाली मतदाता पहले से ही बहुगुणा से नाराज़ बताये जाते है यहाँ पर कांग्रेस से

शैलेंद्र मोहन सिंघल के लिए जसपुर की सीट भाजपा के अंदर से विरोध शायद ना लेकर आए क्योकी यहाँ भाजपा का कोई बढा नेता है ही नही । लेकिन अल्पसंख्यक बाहुल्य इस सीट में भाजपा के टिकट पर दौबारा जीत कर आने के लिए सिंघल को एडी चोटी का जोर लगाना पडेगा ।

उमेश शर्मा काउ जो कि इस समय रायपुर से विधायक है उऩके लिए भाजपा से जो सबसे बडी चुनौती होगी वो त्रिवेंद्र सिंह रावत से मिलने वाली है । भाजपा के इस पूर्व मंत्री को कोशियारी का बेहद करीबी बताया जाता है और संघ में भी इनकी पकड है और अगर उऩकी नजर टेढी हुई तो भाजपा की को इस सीट पर मुँह की खानी पड सकती है ।

खानपुर सीट ही वो सीट है जो भाजपा के लिए बागी कांग्रेसी विधायक को लडवाने के लिए मुफीद है । यहाँ ना ही भाजपा का कोई बडा चेहरा है और चैपियन इस सीट के चैंपियन भी है लेकिन बसपा सारा खेल बिगाढने में यहाँ सक्षम है ।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments