गंगा घर पर हो रही मैली,हरिद्वार नहीं गो मुख होता नमामि गंगे अभियान

0
613

उत्तरकाशी उत्तराखंड में आने वाले यात्रा रूटों पर लगातार गंदगी किये जाने के मामले सामने आते रहे है एक तरफ नामानि गंगे योजना को जहा हरिद्वार से सुरु किया जा रहा है वही इस योजना को अगर गो मुख से सुरु किया जाता तो गंगा घर पर मैली नहीं होती लेकिन उत्तराखंड में गंगा अपने घर पर ही मैली हो रही है बीते दिनों अभियान पर निकले दो सरकारी दलो को इस बात का पता चला तो हकीकत सामने आई है खबर के अनुसार  गंगा अपने उद्गम स्थल गोमुख से ही मैली हो रही है। इसका खुलासा ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) व इंडियन माउंटेनियरिंग फेडरेशन (आइएमएफ) के संयुक्त अभियान के दौरान हुआ। दोनों संस्थाओं के संयुक्त स्वच्छता दल ने बीते दस दिन के दौरान गोमुख से दो टन कूड़ा एकत्र किया। जिसे निस्तारण के लिए डेढ़ सौ बैगों में भरकर उत्तरकाशी लाया गया। गोमुख क्षेत्र में इस वर्ष का यह पहला बड़ा स्वच्छता अभियान है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता मिशन से प्रेरित होकर एक वर्ष पूर्व ओएनजीसी व आइएमएफ की टीम ने संयुक्त रूप से गोमुख क्षेत्र में स्वच्छता अभियान शुरू किया था। बीते वर्ष अक्टूबर के दौरान इस अभियान दल ने करीब डेढ़ टन कूड़ा एकत्र किया था। इस बार 20 जून को नेहरू पर्वतारोहण संस्थान उत्तरकाशी से इस दल को हरी झंडी दिखाई गई। 21 जून को यह आठ सदस्यीय दल गंगोत्री से गोमुख के लिए रवाना हुआ।

 

दल नायक राजीव रावत ने बताया कि 21 जून से लेकर 30 जून तक दल ने गोमुख, भोजबासा, चीड़बासा, तपोवन, नंदनवन, सतोपंथ आदि क्षेत्रों से जैविक व अजैविक कूड़ा एकत्र किया। दो टन अजैविक कूड़े को 150 बैगों में भरकर घोड़े-खच्चरों के जरिए गंगोत्री तक पहुंचाया गया। यहां से कूड़े को ट्रक में उत्तरकाशी लाकर कबाड़ी को सौंप दिया गया। इसकी रिपोर्ट केंद्र सरकार व ओएनजीसी को भेजी गई है। अभियान दल में विजय विजल्वाण, अमित रावत, कैलाश भट्ट, राजू सहित कई लोग मौजूद थे

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments