गैरसैण गया सूचना विभाग गैरसैण तक सिमटा,देहरादून मीडिया को नहीं मिला कोई समाचार

0
269

गैरसैण गया सूचना विभाग गैरसैण तक सिमटा,देहरादून मीडिया को नहीं मिला कोई समाचार :Gairsen Vidhansabha House Dehradun Media Not Provide News Information Dept

गैरसैण गया सूचना विभाग गैरसैण तक सिमटा
गैरसैण विधानसभा सत्र में सरकार ने हिम्मत दिखा कर ग्रीषम कालीन प्रस्तवित राजधानी में शीत कालीन सत्र तो करवा दिया लेकिन देहरादून से गए सूचना विभाग के अधिकारी बजट सत्र की खबर तो दूर एक भी फोटो मीडिया को जो देहरादून में कवरेज की आस लगा कर बैठे थे उनको उपलब्ध नहीं करवा पाए सरकार का ये हाल तब देखे जाने को मिला जब मुख्यमंत्री के दो दो मीडिया सलाहकार गैरसैण में मौजूद रहे यही नहीं दर्जन भर से अधिक अफसर और कर्मचारी भी खबर के नाम पर कोई हरकत करते नज़र नहीं आये।

गैरसैण सत्र के नाम पर जिस तरह पिकनिक की तरह यहाँ पर अधिकारी वर्ग की मौज रहती है वो किसी से छिपी हुई नहीं रहती अपने पसंद के मीडिया वालो को गैरसैण ले जाकर आखिर सूचना विभाग के अफसर सरकार को क्या सन्देश देना चाहते है इसका भान तो उन अफसरों की कार्य शैली से लगाया जा सकता है पूर्व के मुख्यमंत्रियो को इसी तरह ये अफसर अपना सिस्टम दिखा कर सरकार का प्रचार प्रसार किये जाने का ताना बना बुनते नज़र आ चुके है। लेकिन उत्तराखंड में भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत को भी उसी तर्ज पर लेकर जा रहे है जिसमे पूर्व के मुख्यमंत्रियों को लेकर जाया गया था यही नहीं कई अफसर तो ऐसे है जो सरकारी सिस्टम का फायदा उठा कर धार्मिक यात्रा को भी परवान चढ़ा देते है

राज्य के मुख्यमंत्री अगर इस अफसरों के काम काज को लेकर समीक्षा करेंगे तो सच का सामना करने के लिए सूचना विभाग के ये अफसर कही भी टिके हुए नज़र नहीं आएंगे समय रहते राज्य के मुख्यमंत्री और मीडिया सलाहकारों को इन अफसरों की करतूतों को नज़र अंदाज़ किया जाना मुखिया का प्रचार प्रसार में कमी का समीकरण देखने को मिल सकता है।
गैरसैण हमेशा से ही कोई न कोई छाप छोड़ देता आया है इस बार मीडिया के साथ किया गया बर्ताव भी किसी से छुपा हुआ नहीं रहा है सोशल मीडिया पर कई मीडिया वालो ने खाने से लेकर इंतजाम को लेकर सवाल खड़े किये है जब सूचना विभाग वहाँ इंतज़ाम किये जाने में फ़ैल रहता है तो देहरादून से उतने ही मीडिया वालो को ढो कर ले जाना चाइये जिसके सही तरह से इंतज़ाम किये जा सके बताया जा रहा है इस बार मीडिया वालो को काफी छटनी कर लेकर जाया गया लेकिन हुआ वही जैसा हर बार होता रहा है खेर महमानो का इंतज़ाम जब कर नहीं सकते तो फिर उनको वहाँ बुला कर अपमान किया जाना भी सही नहीं सूचना विभाग के अधिकारी अगर इसी तरह अपना काम करते रहे तो मीडिया का एक बड़ा कुनबा जिनको खबर की समझ है वो एक दिन इनकी बारात जरूर चढ़ा देगा।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments