आईपीएस की सीआईडी क्राइम हिरासत

0
98

गुजरात के पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट की बीस साल पुराने एनडीपीएस के एक मामले में हिरासत में लिए गए हैं। भट्ट ने पाली के एक वकील के खिलाफ झूठा केस दर्ज किया था। वकील को गिरफ्तार करने गए पुलिस निरीक्षक व कांस्टेबलों को भी इस मामले में पकड़ गया है। सीआईडी क्राइम इस मामले में पूछताछ कर रही है।

गुजरात उच्च न्यायालय के आदेश पर सीआईडी क्राइम इस मामले में पुन: जांच कर रही थी। इस मामले में सबूत हाथ लगने के बाद सीआईडी क्राइम ने बुधवार सुबह ही पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट व अन्य 6 पुलिस कर्मियों को हिरासत में लिया। भट्ट तब बनासकांठा के पुलिस अधीक्षक थे तथा संपत्ति खाली कराने को लेकर पाली के वकील का मामला उनके समक्ष आया था। भट्ट ने पुलिस निरीक्षक व्यास सहित पांच अन्य पुलिसकर्मियों की एक टीम वकील को पकड़ने के लिए पाली भेजी थी। वर्ष 1998 में यह मामला काफी चर्चित रहा था तथा अदालत ने सीआईडी क्राइम को इसकी पुन: जांच के आदेश किए थे।

इस मामले को लेकर अब बार फिर चर्चा तेज हो गयी है अब देखना होगा इस मामले पर आगे क्या कारवाही अंजाम दी जाती है काफी समय बाद इस मामले में अब कोर्ट की कारवाही के बाद नया मोड़ सामने आएगा जिसको लेकर लोगो में काफी चर्चा दिखी है हलाकि ये मामला कोर्ट के आदेश पर हुआ है जिसको लेकर तेजी से ट्रेंड होता हुआ नज़र आए रहा है कई साल पुराने मामले को लेकर अब कोर्ट के आदेश पर अंजाम दी गयी कारवाही को लेकर अलग अलग तरह की राजनैतिक चर्चा भी तेजी से चल पड़ी है।

गौरतलब है कि गत दिनों संजीव भट्ट पाटीदार नेता हार्दिक पटेल से मिलकर सरकार से उनकी आरक्षण व किसानों की कर्ज माफी की मांग का समर्थन किया था। इससे पहले वर्ष 2012 में उनकी पत्नी श्वेता भट्ट अहमदाबाद की मणिनगर विधानसभा सीट से गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री एवं वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव भी लड़ चुकी हैं।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments