चारो पूर्व मुख्यमंत्री ऊर्जा विभाग के लाखो के बकायेदार

0
410

चारो पूर्व मुख्यमंत्री ऊर्जा विभाग के लाखो के बकायेदार
For ex Cm Power Department Electricity Bill Defaulter

देहरादून उत्तराखंड के ये चार राजनेता जो समय समय पर सत्ता की कुर्सी पर विराजमान होते रहे ऊर्जा प्रदेश का नारा भी दिया गया लेकिन उसी ऊर्जा विभाग के आज भी बकायेदार बने हुए है चारो पूर्व मुख्यमंत्री पर लाखो रूपए बकाया की देनदारी बनी हुई है लेकिन अभी तक किसी भी राजनेता ने बकाया बिजली का बिल भुगतान नहीं किया है। मामला अब इसलिए सामने आया है जब कोर्ट में पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवास खाली करने के निर्देश दिए है उसी के बाद अब राज्य का ऊर्जा विभाग भी नींद से जाग गया है देखना होगा की क्या अब लाखो का बकाया बिजली बिल सरकार के खजाने में जमा होता है या फिर इस पर भी राजनैतिक विराम लगने की तैयारी होती है।
सूबे के चार पूर्व मुख्यमंत्रियों पर 60 लाख रुपये का बिजली बिल बकाया है। इसे वसूलने को ऊर्जा निगम ने कसरत शुरू कर दी है। निगम प्रबंधन ने राज्य संपत्ति विभाग को पत्र लिखा और जल्द ही बकाया जमा करने का अनुरोध किया।
पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी, भगत सिंह कोश्यारी, रमेश पोखरियाल निशंक और बीसी खंडूड़ी को आवंटित आवासों का बिजली बिल आज तक जमा नहीं कराया गया। नियमानुसार बिल राज्य संपत्ति विभाग को जमा करना था। मामला पूर्व मुख्यमंत्रियों के आवासों का था इसलिए अब तक ऊर्जा निगम भी कोई कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं जुटा सका। न कनेक्शन काटा गया न कोई नोटिस ही दिया।

अब हाई कोर्ट के आदेश पर शासन ने पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवास खाली करने का आदेश दिया तो ऊर्जा निगम भी बिजली बिल वसूलने के लिए हरकत में आ गया है। ऊर्जा निगम के निदेशक मानव संसाधन एंव प्रवक्ता पीसी ध्यानी के मुताबिक राज्य संपत्ति विभाग को बकाये का भुगतान करने के संबंध में पत्र भेजा गया है। शासन के सम्मुख भी इस मामले को रखा जाएगा।

किस पर कितना बकाया
भगत सिंह कोश्यारी, कैंट रोड, 10.79 लाख
एनडी तिवारी, एफआरआइ कैंपस, 13.63 लाख
रमेश पोखरियाल, यमुना कॉलोनी, 3.18 लाख
रमेश पोखरियाल, एनेक्सी, 27.34 लाख
बीसी खंडूड़ी, यमुना कॉलोनी, 4.56 लाख
(ऊर्जा निगम के आंकड़ों के अनुसार)

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments