किसानो की आत्महत्या को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री रावत ने सरकार को दिए ये सुझाव

0
143

किसानो की आत्महत्या को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री रावत ने सरकार को दिए ये सुझाव ex cm harish rawat says good farmula farmar
देहरादून उत्तराखंड में किसानों की मौत के बाद उठे राजनीतिक विवाद के बाद जहां एक नई बहस शुरू हो गई है वहीं राज्य सरकार की किसानों के कर्ज माफी को लेकर की गई कोई भी पहल अभी तक सकारात्मक भूमिका में नजर नहीं आ रही है किसानों की लगातार हो रही मौतों को लेकर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने राज्य सरकार पर कोई कार्यवाही ना किए जाने के आरोप लगाए हैं वही श्री रावत ने कहा कि राज्य सरकार अगर चाहे तो किसानों की कर्ज माफी को लेकर कोई सकारात्मक पहल कर सकती है लेकिन राज्य सरकार ऐसा कोई भी रास्ता नहीं निकाल रही जिसके कारण उत्तराखंड के किसानो को आर्थिक रुप से परेशान होना पड़ रहा है।

उत्तराखंड में अभी तक तीन किसान कर्ज को लेकर मौत की नींद सो चुके हैं लेकिन राज्य सरकार कि इस मामले को लेकर कोई ठोस कारवाही न होना कई तरह की बातो को जन्म दे रही है माना जा रहा है इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस जहां सरकार पर हमला करती नजर आ रही है वही राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का सरकार को सकारात्मक पहल करते हुए कर्ज माफी के लिए बीच का रास्ता निकालने का सुझाव सटीक तरह से सामंने आ सकता है माना जा रहा है राज्य सरकार अगर उत्तराखंड के किसानो के कर्ज माफी को लेकर कोई बीच का रास्ता निकालती है तो यह राज्य के किसानों के लिए एक तरीके से फायदे का सौदा हो सकता है।

हालांकि राज्य सरकार की माली हालत इतनी अच्छी नहीं कि वह उत्तराखंड में कर्ज माफी को लेकर कोई कदम उठा सके लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का सुझाव राज्य सरकार के लिए एक तरीके से एक नया रामबाण साबित हो सकता है अब देखना होगा कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत किसानो के कर्ज माफी को लेकर इस बीच के रास्ते को क्या कदम उठाते हैं अगर उत्तराखंड को देखा जाये तो यहाँ किसानो दवारा की जा रही आत्महत्या जैसे कदम को लेकर एक पहाड़ी राज्य के लिए अच्छा संकेत नहीं राज्य सरकार को किसानो के लिए जल्द कोई नयी पहल की तरफ कदम बढ़ाना जरुरी होगा ताकि राज्य के किसान आत्महत्या जैसा कदम न उठा सके।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments