ईवीएम में धांधली राष्ट्रीय मुद्दा बनाएंगीं,बसपा ११ अप्रैल से होगा आंदोलन

0
258

ईवीएम में धांधली राष्ट्रीय मुद्दा बनाएंगीं,बसपा ११ अप्रैल से होगा आंदोलन
लखनऊ उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बुरी तरह हार का सामना करने वाली बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कांशीराम जयंती पर ऐलान किया है कि वह ईवीएम में धांधली को मुद्दे को राष्ट्रीय मुद्दा बनाएंगीं.
बसपा 11 अप्रैल से भाजपा के खिलाफ आंदोलन शुरू करेगी, इस दिन को बसपा लोकतंत्र की हत्या के रूप में काला दिवस मनाएगी.
ईवीएम में गड़बड़ी को लेकर भाजपा के खिलाफ 11 अप्रैल से आंदोलन करेगी बसपा उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बुरी तरह हार का सामना करने वाली बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कांशीराम जयंती पर ऐलान किया है कि वह ईवीएम में धांधली को मुद्दे को राष्ट्रीय मुद्दा बनाएंगीं.
इसके अलावा मायावती ने लालजी वर्मा को पार्टी के विधायक दल का नेता नामित किया है. वहीं उमाशंकर सिंह को विधानसभा में पार्टी का उपनेता नियुक्त किया गया है, जबकि पुराने विश्वासपात्र रामवीर उपाध्याय को मुख्य सचेतक बनाया गया है. हरगोविंद भार्गव तथा शाह आलम सचेतक बनाए गए हैं.
राज्य विधानसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन से निराश बसपा संगठन में बड़ा फेरबदल करने जा रही है. कई लोगों को बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है.
विधानसभा चुनाव में बसपा विधायकों की संख्या सिर्फ 19 रह गई है, जो पिछली विधानसभा में 80 थी.
पार्टी मुख्यालय पर बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने कहा कि बसपा के संस्थापक कांशीराम की आज जयंती है. उन्होंने जातिवादी व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई लड़ी. उन्होंने कहा कि आज अति महत्वपूर्ण बैठक बुलाई गई है.
कांशीराम कहते थे कि दलित, पिछड़े वर्गों के प्रति लोग जातिवादी मानसिकता रखते हैं. उन्होंने कहा था कि जातिवादी लोगों ने दलित, पिछड़ों को गुलाम बनाया. भाजपा के नेता पीएम मोदी फिर केंद्र की सत्ता के सपने देख रहे हैं.
इसके बाद मायावती ने ईवीएम मामले में अपने आरोपों को दोहराते हुए कहा कि भाजपा की यह जीत ईमानदारी की जीत नहीं है. यह बेईमानी, धांधली और लोकतंत्र की हत्या करने वाली जीत है. भाजपा नेताओं के चेहरे पर बनावटी मुस्कुराहट है.
325 सीटें जीतने के बाद भाजपा 2019 में फिर केंद्र की सत्ता में आने सपने देख रही है. वह दलितों, पिछड़ों के आरक्षण को खत्म कर सकती है. वह आरएसएस के एजेंडे पर आरक्षण को प्रभावहीन बना सकती है. पिछले कुछ चुनावों में इनके हथकंडे देखने को मिल रहे हैं, दलित, पिछड़ों को अपने पैरों पर खड़े होने की जरूरत है.
विरोधियों से बसपा को कड़ा मुकाबला और संघर्ष करना पड़ेगा. भाजपा ने घोटाले वाली जीत दर्ज की है. भाजपा की जीत जनता के गले से नहीं उतर पा रही है. भाजपा बेईमानी की जीत पर पर्दा डालने की कोशिश में है.
उन्होंने कहा कि भाजपा वाले नेता कह रहे हैं कि ईवीएम में धांधली थी तो पंजाब, गोवा, मणिपुर में भी भाजपा की बहुमत की सरकार बननी चाहिए थी. दरअसल गोवा, मणिपुर, पंजाब में भी भाजपा धांधली करती तो उसे जवाब देना पड़ता. इसलिए उसने सिर्फ उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में ये काम किया. उत्तराखंड पहले उत्तर प्रदेश का ही हिस्सा होता था.

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments