शिक्षा मंत्री अरविन्द पांडेय को जब पहना दिया सोने का मुकुट

0
170

शिक्षा मंत्री अरविन्द पांडेय को जब पहना दिया सोने का मुकुट Education Minister Arvind Panday Gold Crown
हल्द्वानी उत्तराखंड में बीजेपी सरकार के शिक्षा मंत्री अरविन्द पांडेय का इन दिनों एनसीईआरटी पाठ्यक्रम उत्तराखण्ड मे लागू करने का साहसिक एवं ऐतिहासिक निर्णय लेने पर जनता द्वारा अभिनन्दन किया जा रहा है आज हल्दवानी में उनको सोने के मुकुट को पहना कर सम्मानित किया गया बीजेपी सरकार में पहला अवसर है जब किसी मंत्री को सोने के मुकुट से सम्मानित किया गया है

एनसीईआरटी पाठ्यक्रम उत्तराखण्ड मे लागू करने का साहसिक एवं ऐतिहासिक निर्णय लेने वाले प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डे का रविवार को हल्द्वानी महानगर मे विभिन्न सगठनों राजनैतिक संगठनों, व्यापार मण्डल, वरिष्ठ नागरिक जन समिति, पूर्व सैनिक संगठन समिति तथा विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा भव्य स्वागत किया गया। स्वागत समारोह का आयोजन संयोजक सुरेश तिवारी तथा अध्यक्ष स्टूडैन्ट गार्जियन टीचर वैलफेयर सोसाइटी पंकज खत्री की ओर से किया गया। कार्यक्रम में बडी संख्या मे पहुचे विभिन्न सगठनो के लोगो एवं जनमानस ने शिक्षा मंत्री श्री पाण्डे का फूलमाल, प्रतीक चिन्ह एवं अंगवस्त्र भंेट कर सम्मान किया गया। कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री द्वारा विभिन्न क्षेत्रो मे विशेष उपलब्धि हासिल करने वाले लोगो को भी अंगवस्त्र एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डे,विधायक एवं पूर्व मंत्री बशीधर भगत, विधायक नवीन दुम्का एवं पूर्व सांसद बलराज पासी द्वारा दीप प्रज्वलित कर संयुक्त रूप से किया गया।

शिक्षा मंत्री कें सम्मान समारोह को प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत द्वारा मोबाइल पर सम्बोधित किया गया। अपने सम्बोधन मे मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि हम और हमारी सरकार जनसेवक है। जनसेवा एवं गरीबो का विकास हमारा दायित्व एवं नैतिक धर्म है। महंगी शिक्षा कुछ अमीरों तक ही सिमट कर रह गयी थी जबकि शिक्षा सबका समान अधिकार है। गरीब भी चाहता है कि उसका बच्चा अच्छी शिक्षा हासिल कर देश का बडा नागरिक बने और समाज व राष्ट्र सेवा मे आगे आये, लेकिन महंगी किताबो को चलते उसका यह दिवा स्वप्न हकीकत में स्वरूप नही ले पा रहा था, इसलिए सरकार ने निर्णय लिया कि एनसीईआरटी की सस्ती किताबों का पाठ्यक्रम मे शामिल किया जाए। जिसका जनमानस में पुरजोर तरीके से स्वागत किया है। इस पाठयक्रम के प्रदेश मे लागू होने से गरीब परिवार के बच्चो को भी शिक्षा के समान अवसर मिलेंगे। उन्होने इस व्यवस्था के लिए शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डे की मुक्त कंठ से सराहना की।

सम्मान समारोह मे उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुये शिक्षा मंत्री श्री पाण्डे ने कहा कि वह स्वयं एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र्र सिह रावत गरीब परिवार से है लिहाजा सरकार गरीबो के दर्द एवं उनकी दुश्वारियों का अनुभव करती है। ऐसे में गरीब के बच्चे को समान शिक्षा का अधिकार के अन्तर्गत सुलभ एवं सस्ती शिक्षा हासिल हो इसी को ध्यान मे रखते हुये प्रदेश सरकार द्वारा एक समान व्यवस्था के तहत प्रदेश भर के सरकारी एवं निजी स्कूलो में सस्ती एनसीईआरटी की किताबे एवं पाठ्यक्रम लागू किया है। इस व्यवस्था की जनमानस में बढे स्तर पर प्रशंसा की है।

श्री पाण्डे ने कहा कि सबका साथ सबका विकास हमारी सरकार की सोच है इसी को ध्यान मे रखते हुये हमने गुजरे समय में ग्रामीण खेल कुम्भ का आयोजन किया। जिसमें लगभग प्रदेश भर के ढाई लाख ग्रामीण युवा खिलाडियो ने प्रतिभाग कर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया प्रदेश स्तर पर बिना सरकारी खजाने पर किसी प्रकार का दबाव न बनाते हुये जन सहयोग से ऐसे ग्रामीण युवा खिलाडियो को स्कूटी व साईकिल देकर युवा प्रतिभाओ को सम्मानित किया गया। उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड एवं हिमाचल दो से प्रदेश है जहा उदयीमान खिलाडियो की कोई कमी नही है, बशर्ते हम उनको पहचाने और उनके प्रतिभा के विकास का कार्य करें। उन्होने कहा कि प्रदेश में देहरादून व हल्द्वानी मे अन्तर्राष्ट्रीय स्टेडियम बन कर तैयार है जल्द ही इन स्टेडियमों मे राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्टीय खेल मैचो का आयोजन किया जायेगा।
श्री पाण्डे ने कहा कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों मे गुणवत्ता युक्त शुद्व मध्याह्न भोजन विद्यार्थियो को मिले इसके लिए केन्द्रीय रसोई की व्यवस्था लागू की गई है,इससे स्कूल स्टाफ को भोजन बनाने व उसकी व्यवस्था से मुक्ति मिलेगी। मध्याह्न भोजन तैयार करने एंव सप्लाई करने की व्यवस्था प्राइवेट सेक्टर को दी गई है।
कार्यक्रम मे अपने सम्बोधन मे विधायक बंशीधर भगत ने इस व्यवस्था को आमजन के हित मे बताया वही विधायक नवीन दुम्का ने कहा कि काफी समय से बिगडी प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था अब पटरी पर दिखने लगी है। अपने सम्बोधन मे पूर्व सांसद बलराज पासी ने कहा कि प्रदेश मे शिक्षा की दशा एवं दिशा मे सुधार नजर आने लगा है। सरकारी स्कूलो के प्रति लोगो का रूझान बढा है और एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम एवं पुस्तकंे लागू हो जाने से लोगो ने राहत महसूस की है। इस व्यवस्था से शिक्षा मे चल रही लूूट खसोट पर भी अंकुश लगा है। अपने सम्बोधन मे जिलाध्यक्ष भाजपा प्रदीप विष्ट ने कहा कि सरकार का यह ऐतिहासिक कदम है जिससे गरीब तबके को राहत मिली है और आगे आने के रास्ते भी खुले है।
कार्यक्रम में निवर्तमान मेयर डा0 जोगेन्दर पाल सिह रौतेला, पूर्व पालिकाध्यक्ष रेनू अधिकारी, लोक गायक प्रहलाद मेहरा, अध्यक्ष व्यापार मण्डल योगेश शर्मा,दिनेश खुल्वे, प्रकाश रावत, महेन्द्र कश्यप, विजय मनराल, हरमिन्दर सिह चडडा, हरीश आर्य , बीना जोशी, संजय दुम्का, राहुल झिगरन, सुरेश तिवारी, चन्द्रप्रकाश तिवारी, विपिन पाण्डे, दीपाली कन्याल,अशोक वाष्र्णेय, हरीश पाण्डे, मनोज साह,डा0 वारसी,दिनेश आर्य, पुनीत लाल, मदन शिल्पकार, डीएन भटट, देवेन्द्र कुमार, बलवीर सिह, धु्रव रौतेला, शान्ति भटट, राजीव विनायक, राहुल जोशी, जितेन्द्र मेहता, कमल मुनि, प्रकाश हर्बोला के अलावा बडी संख्या में लोग मौजूद थे। कार्यक्रम मे व्यवासायी सुभाष गुप्ता तथा अध्यक्ष मार्निक वाॅकर क्लब हरीश पाण्डे ने सोने का मुकुट पहनाकर सम्मान किया।
कार्यक्रम में अपूर्वा पाण्डे, विपिन पाण्डे,श्याम धानिक, राजेन्द्र सिह हृयांकी व अन्य प्रतिभाओ को मुख्य मंच पर सम्मानित किया गया। संचालन कार्यक्रम संयोजक सुरेश तिवारी द्वारा किया गया।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments