कबीले का सरदार ड्राय इलाके में मुर्ग मसल्लम

0
175

देहरादून। कबीले का सरदार ड्राय इलाके में मुर्ग मसल्लम प्रतिबंधित इलाके में शराब की दावत दिए जाने की चर्चा सामने आ रही है धर्मनगरी में जिस जगह पर दावत में मुर्ग मसल्लम का स्वाद लिया गया है वहाँ पर शराब के साथ साथ मुर्ग मस्लम का मज़ा लेते हुए रात भर दावत का मज़ा लिया गया है जिस जगह पर दावत का आयोजन किया गया है वो इलाका प्रतिबंधित इलाके में आता है इस दावत को लेकर चर्चा तेज हो रही है कबीले के सरदार जश्न में इस दावत का पूरा इंतज़ाम शराब महकमे के अफसर द्वारा किया जाना भी चर्चा का विषय बन गया है।

उत्तराखंड में इस तरह की दावत को लेने के लिए शराब महकमे और पुलिस के अफसरों को भी दवाब में लेकर दावत ली गयी है जिस होटल में इस दावत का मजा लिया गया है वो धर्मनगरी का प्रतिबंधित इलाका है जहा पर इस तरह की दावत नहीं की जा सकती है लेकिन होटल में आयोजित हुई ये दावत अब चर्चा का विषय बन गई है रविवार के दिन आयोजित हुई ये दावत कबीले के सरदार इशारे पर अंजाम दी गई इसको लेकर भी अलग अलग तरह की बातें सामने आ रही है दावत खाने के लिए दूर दराज के लोगो को यहाँ पर रहने से लेकर शराब कबाब का इंतज़ाम किया गया था।

देहरादून,हरिद्वार नैनीताल,उधमसिंह नगर, के आलावा पहाड़ी जनपदों के कई ऐसे लोग कबीले के सरदार दावत में मुर्ग मस्लम का मज़ा लेते हुए नज़र आए जबकि ये दावत लेने के लिए जिन अफसरों को दवाब में लिए गया उनको जब रुकने वालो की हकीकत का पता चला तो वो भी सोच में पड़ गए इस तरह की दावत का आयोजन कोई पहली बार नहीं हुआ है पहले भी इसी तरह की दावत का इंतज़ाम किये जाने के लिए अफसरों पर दवाब बनाया जाता रहा है लेकिन इस बार शराब महकमे और पुलिस के अफसरों पर दवाब बनाकर ली गई मुर्ग मस्लम की दावत चर्चा का विषय बन गई है।

देहरादून में सचिवालय से लेकर मीडिया के बीच चर्चा का विषय बनी कबीले के सरदार ये दावत का पता चल जाने के बाद ये कहानी बता रही है आखिर प्रतिबंधित इलाके में धर्मनगरी में इस तरह का पाप अंजाम दिया गया है लेकिन सवाल ये भी उठ रहा है आखिर जब इलाका प्रतिबंधित था तो वहाँ पर कैसे इस दावत को अंजाम दिया गया लेकिन दावत खाने वाले रात को शराब के नशे में इस पाप को धर्मनगरी में अंजाम देते रहे इस दावत का हिस्सा कुछ लोग नहीं बने क्योकि उनके द्वारा इस दावत से किनारा कर लिया था जिसके बाद उनकी दावत का भेद खुल गया जो अब जन चर्चा का विषय बन गया है दावत का समाचार अब मीडिया वालो के कानों में भी शोर कर रहा है जिसकी आवाज़ तेजी से गूंज रही है।

ये खबर भी पढ़े: नैनीताल सांसद छू मंतर

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस दावत का किरदार उस कबीले के सरदार ने आयोजित किया था जिसका किला पहले वाले कबीले वाले सरदार ने गिराया था अब ये कबीले वाला सरदार अपनी नयी फौज के साथ कई जगह पर अपने इंतज़ाम किये जाने के लिए अपनी सेना का सरदार बनकर उनका उपयोग किये जाने के लिए कसरत कर रहा है इस सरदार के कबीले में एक नहीं कई ऐसी प्रजाति मौजूद बताई जा रही है जो अपना हित पूरा करने के लिए किसी की भी बलि लेने को तैयार रहते है कुलमिलकर नए कबीले वाले सरदार की दावत में मुर्ग मसल्लम का मज़ा चर्चा का विषय बन गया है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।