डाॅ के.के पाॅल द्वारा डी.जी धन मेले का उद्घाटन किया गया।

0
291

डाॅ के.के पाॅल द्वारा डी.जी धन मेले का उद्घाटन किया गया।

देहरादून जनपद के ईसी रोड स्थित आई.डी.आर.टी आॅडिटोरियम में महामहिम राज्यपाल उत्तराखण्ड डाॅ के.के पाॅल द्वारा डिजिटल लेनदेन को बढावा देने हेतु की जाने वाली प्रक्रिया को सरल तरीके से लोगो को जागरूक करने के उद्देश्य से डी.जी धन मेले का उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर महामहिम राज्यपाल डाॅ के.के पाॅल, केन्द्रीय मंत्री भारत सरकार जे.पी नड्डा एवं राज्य मंत्री अजय टमटा तथा उत्तराखण्ड के केबिनेट मंत्री दिनेश अग्रवाल द्वारा डिजी धन मेले में विभिन्न बैंकों तथा टेलीकाम कम्पनियों के स्टाॅल का भी निरीक्षण किया तथा डिजिटल सोसाईटी पर स्कूली बच्चों द्वारा तैयार की गयी श्रेष्ठ पेन्टिंग्स/कविता पर बच्चों को पुरस्कृत भी किया गया, साथ ही इस अवसर पर गढकला संस्था पौड़ी द्वारा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति के माध्यम से मतदाता जागरूकता तथा डिजिटल समाज को प्रेरित करने के विषय पर लोगों को जागरूक किया गया ।
इस अवसर पर महामहिम राज्यपाल डाॅ के.के पाॅल ने कहा कि कोई भी नई चीज जब चलन में आती है तो शुरूआत में उसको स्वीकारनें में थोड़ी-बहुत परेशानी जरूर आती है यह प्रकृति का नियम है, किन्तु उस चीज को स्वीकारने पर वह बहुत आसान लगती है। उन्होने कहा कि उसी प्रकार से डिजिटल समाज को बढावा देने के लिए शुरूआत में उसके संचालन, नेटवर्क आदि में कुछ दिक्कते आ सकती है, लेकिन सभ्य समाज को आधुनिक प्रगति करने के लिए उसको स्वीकार करना जरूरी है। उन्होने कहा कि डिजिटल कार्यों में लगे विभागों/संस्थाओं को इसके कुछ नकरात्मक पक्षों (साइबर क्राइम) को नियंत्रित करने की ओर कार्य करना होगा, जिससे यह योजना भारत के सभी नागरिकों के लिए एक सार्थक अवसर साबित हो सकेगी।
इस अवसर पर माननीय केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री भारत सरकार जे.पी नड्डा ने कहा कि डिजी धन योजना का मकसद लोगो को नकद विहिन समाज की ओर प्रेरित करना है तथा इसी उद्देश्य से माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार ने कालाधन, आतंकवाद, नक्सलवाद, तस्करी, भ्रष्टाचार इत्यादि अवैध गतिविधियों पर अंकुश लगाने तथा समाज में तथा देश के प्रति उत्तरदायित्व की भावना विकसित करने के उद्देश्य से विमुद्रीकरण की प्रक्रिया अपनाई है। उन्होने कहा जहां तक रिजर्व बैंक द्वारा बार-2 नियम बदलने की बात है तो समाज विरोधी तत्वों ने जैसे-2 कालेधन को सफेद बनाने की तरकीब अपनाई वैसे-2 उन पर अंकुश लगाने के लिए नियमों में बदलाव करना आवश्यक था। उन्होने उपस्थित लोगों से आग्रह किया कि नकारात्मक विचारों पर ध्यान न देकर देश की प्रगति व देशहित में इस योजना को सफल बनाने के लिए स्वयं भी डिजिटल प्रक्रिया अपनायें तथा दूसरों को भी इसके लिए पे्ररित करें।
इस अवसर पर केन्द्रीय कपड़ा राज्यमंत्री अजय टमटा ने अपने सम्बोधन में कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा पहले से ही उत्तरखण्ड के प्रत्येक जिले के एक-2 ब्लाक को आप्टीकल फाइबर से जोड़ा जा चुका है तथा शीघ्र ही अन्य को भी जोड़ने की प्रक्रिया चल रही है। उन्होने कहा कि छोटे-2 कारोबारियों व दुकानदारों को डिजिटल भुगतान करने से उन्हे बैंकों द्वारा संचालित अनेक योजनाओं का सीधा-साीधा लाभ मिलेगा तथा अब उन्हे छोटे-2 कार्यों के लिए साहुकारों से ऋृण नही लेना पडे़गा एवं यह ऋृण आसान शर्तों पर सरल प्रक्रिया द्वारा बैंक के माध्यम से उनको मिलेगा। उन्होने कहा कि यह सच है कि उत्तराखण्ड के कुछ सीमान्त जनपदों में नेटवर्क की समस्या हो सकती है, जिसे दूर करने के लिए केन्द्र सरकार लगातार कार्य कर रही है तथा डिजी धन योजना में बहुत से आसान विकल्पों के माध्यम से आनलाईन भुगतान की प्रक्रिया सम्पन्न की जा सकती है।
इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री उत्तराखण्ड सरकार दिनेश अग्रवाल ने कहा कि उत्तराखण्ड में सीमान्त जनपदों में अक्सर कनैक्टीविटी की समस्याएं आड़े आती हैं, जिससे डिजिटल भुगतान करने में लोगों को समस्या आ सकती है। उन्होने कहा कि डिजिटल प्रक्रिया समय की मांग है तथा यह योजना अपने-आप में बहुत अच्छी है साथ ही उन्होने केन्द्र सरकार से आग्रह किया कि लोगों को कनैक्टीविटी, नेटवर्क तथा साइबर क्राइम जैसी समस्याओं को दुरूस्त करते हुए इस प्रक्रिया को अमल में लाना चाहिए।
इस अवसर पर जिलाधिकारी रविनाथ रमन द्वारा सभी आगन्तुकों का धन्यवाद अदा करते हुए कार्यक्रम का समापन किया गया ।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश, सूचना प्रौद्योगिकी सचिव दीपक कुमार, एन.पी.सी.आई. से श्री अनूप नायर, अपर आयुक्त परिवहन श्रीमती सुनिता सिंह, प्रसिद्ध लोक गायक नरेन्द्र सिंह नेगी सहित विभिन्न बैंको, टेलीकाम कम्पनियों , सूचना प्रौद्योगिकी विभागों के अधिकारी/कर्मचारी सहित सभ्य समाज उपस्थित थी।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments