डा0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने इंसीडेंट रिस्पांस सिस्टम की समीक्षा की

0
241

डा0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने इंसीडेंट रिस्पांस सिस्टम की समीक्षा की

उत्तरकाशी जनपद में लगातार आ रहे भूकम्प के झटकों को दृष्टिगत रखते हुए आपदा पूर्व तैयारी के सम्बन्ध में इंसीडेंट रिस्पांस सिस्टम की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी डा0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि आपदा घटित होने के प्रथम दो तीन घण्टे बहुत महत्वपूर्ण होते है उस दौरान क्या कार्रवाई आदि की जानी है उसका विवरण सभी नोडल अधिकारी तत्काल दें। जिला सभागार में आयोजित आपदा पूर्व तैयारियों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी को निर्देश दिये कि इंसीडेंट रिस्पांस सिस्टम में नामित अधिकारियों को उनके मुख्य दायित्यों को लिखित रूप में उपलब्ध करायें। जिलाधिकारी ने आपदा पूर्व तैेयारियों पर एक माॅक ड्रिल कराये जाने को कहा । कहा कि इससे पूर्व प्राथमिक उपचार, वायरलेस प्रणाली तथा आईटीबीपी द्वारा बेसिक प्रशिक्षण दिया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि ब्लाक स्तर पर युवक एवं महिला मंगल दलों के लिए कम से कम एक दिन का आपदा प्रशिक्षण कार्यक्रम रखा जाय। इसके अतिरिक्त भूतपूर्व सैनिकों से समन्वय कर एक समन्वयक अधिकारी नामित किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि ग्राम आपदा प्रबन्धन समिति को आपदा के प्रति सजग रहने के लिए समय समय पर आवश्यक दिशा निर्देश दिये जांय। आपदा के दौरान सूचनाओं का त्वरित आदान प्रदान के लिए संचार व्यवस्था को सुदृढ़ बनाये रखने पर जोर दिया गया। उन्होंने इसके लिए सेटेलाइट फोन क्रय करने के निर्देश दिये। वहीं लाइफ डिटेक्टर की मांग करने को कहा। बैठक में जिलाधिकारी ने समस्त विभागीय अधिकारियों को कहा आपदा पूर्व तैयारियों का उच्चतम स्तर बनाये रखेंगे और किसी भी तरह की आपदा की स्थिति में बिना सूचना के कलेक्ट्रेट प्रांगण में उपस्थिति होंगे। जिलाधिकारी ने इस बात पर जोर दिया कि इंसीडेट रिस्पांस सिस्टम के अनुरूप समस्त नामित नोडल अधिकारियों को अपनी भूमिका और दायित्यों के बारे में जानकारी अवश्य होनी चाहिये। जिलाधिकारी ने जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी को निर्देश दिये कि आपदा की स्थिति में सड़क संयोजकता के लिए बीआरओ का क्या दायित्व रहेगा उन्हें अवगत कराया जाय साथ ही वैकल्पिक पैदल मार्ग का खाका बनाने के लिए आईटीबीपी की मदद ली जाय। आपदा के दौरान राहत एवं बचाव के सभी संसाधनों का पूरा विवरण मय सम्पर्क सूत्रों के साथ तैयार रखने को कहा ताकि आवश्यकता पड़ने पर आपदा प्रभावित क्षेत्र में मशीने एवं मानव संसाधन को राहत व बचाव के लिए भेजा जा सके। आपदा प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ठहराने के लिए जगह चिन्हित करने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिये गये साथ ही पर्याप्त टैन्टेज रखे जाने को भी कहा। उन्होंने जल संस्थान, विद्युत एवं लोनिवि को आपदा घटित होने के दौरान आपसी समन्वय बनाये रखने को कहा। बैठक में पुलिस अधीक्षक ददनपाल, प्रभागीय वनाधिकारी एस कुमार मुख्य विकास अधिकारी उदय सिंह राणा, अपर जिलाधिकारी पी0एल0 शाह, कमांडर बीआरओ एस0सी0 लूनिया, संयुक्त मजिस्ट्रेट नितीका खण्डेलवाल, उपजिलाधिकारी सौरभ असवाल, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल जिला विकास अधिकारी प्रकाश रावत, आईटीबीपी के प्रतिनिधि सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments