डा0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने ली नौडल अधिकारियों की बैठक

0
159

डा0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने ली नौडल अधिकारियों की बैठक

उत्तरकाशी जिलाधिकारी डा0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने आगामी विधान सभा निर्वाचन2017 को निष्पक्ष, एवं निर्विघ्न सम्पन्न कराने के लिए नियुक्त सभी नोडल अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। जिन मतदेय स्थलों पर बिजली, पानी, और शौचालय की व्यवस्था अभी तक नहीं हुयी वहां सम्बन्धित विभाग तत्काल उक्त सुविधाएं दुरुस्त करें। उन्होंने कहा कि जनपद क्षेत्रफल की दृष्टि से काफी बड़ा है जिसमें कनेक्टिविटी की भी समस्या हो सकती है । इसके लिए हमें नवीन टेक्नोलाजी का इस्तेमाल करना होगा ताकि दूरस्थ क्षेत्रों में पंहुच आसानी से हो सके। जिलाधिकारी ने कहा कि उन्नत टेक्नोलाजी के बेस पर दूरस्त क्षेत्रों में आसानी से पंहुच बनायी जा सकती है। तहसील, विकास भवन एवं जिला कार्यालय में संचार व्यवस्था को सृदृढ़ बनाने को कहा ताकि कोई भी व्यक्ति अपनी समस्याओं को सही ढंग से सम्बन्धित अधिकारी के समक्ष रख सके। उन्होंने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये है कि जो भी पत्र व्यवहार किया जाता है उस पत्र में विभाग का दूरभाष नम्बर तथा मेल आई डी अवश्य अंकित हो। उनका कहना था कि हम सभी का कर्तव्य है पब्लिक को सुविधा देना और उनकी समस्याओं का निराकरण करना होता है। जिलाधिकारी ने विकास कार्यो में तेजी लाने के लिए सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को कार्य संसकृति में बदलाव लाने को कहा। उनके द्वारा (जिलाधिकारी) जन हित के कार्यो को पूरा करने के लिए जो अवधि तय की जाती है उसी के अनुसार उसे पूरा करना होगा। किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को कहा कि आदर्श आचार संहिता लागू होने से पूर्व दो तीन गांव को अवश्य कबर करें और वहां रात्रि विश्राम कर लोगों की समस्याओं को सुने साथ ही फीड बैक प्राप्त करें कि वहां की क्या प्राथमिकताएं है । इस दौरान जिलाधिकारी ने आगामी विधान सभा निर्वाचन को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने को लेकर अब तक की गयी तैेयारियों की समीक्षा की। प्रत्येक मतदाता अपने मत का प्रयोग करे इसके लिए वृह्द प्रचार अभियान जारी रखा जाय। जिलाधिकारी ने स्वीप कार्यक्रम के जरिये मतदाताओं में अपने मताधिकार का प्रयोग करने हेतु उनमें जागरूकता लाने पर जोर दिया। स्वीप कार्यक्रम में और तेजी लाने के लिए उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। निर्वाचन के दौरान सड़क/ पैदल मार्ग की कनेक्टिविटी को लेकर जिलाधिकारी ने बीआरओ, आईटीबीपी को नोडल अधिकारी नामित करने के निर्देश भी दिये । सड़क मार्ग में बीआरओ/ लोनिवि तथा मतदेय स्थल तक का ट्रेकिंग रूट पर आईटीबीपी की मदद ली जा सके। उन्होंने सभी सड़क मार्गाे को चुनाव तिथि से पूर्व आवागमन के लिए दुरुस्त करने के निर्देश दिये। बैठक में अवगत कराया कि तीनो विधान सभा क्षेत्र के 100 बूथों पर विद्युत आपूर्ति नहीं है इस पर जिलाधिकारी ने एक सप्ताह के भीतर विद्युत कनेक्शन की कार्यवाही कर उन्हें रिर्पोट देने के निर्देश विद्युत विभाग को दिये। जिलाधिकारी ने बैठक में जिला योजना के साथ विकास कार्यो की भी समीक्षा की। उन्होंने विकास खण्ड मोरी के ओसला गांव में आंखों की बीमारी को लेकर चर्चा भी की। इस सम्बन्ध में वरिष्ठ नेत्र चिकित्सक डा0 नीरज राय ने बताया कि मेडिकल टीम ओसला भेजी गई थी जिसके द्वारा बताया गया कि मरीजों के रेटिना सम्बन्धी बीमारी तथा मोतियाबिंद है। इस हेतु एनआईएचटी जौलीग्रांट की टीम द्वारा 25 दिसम्बर को मोरी ब्लाक मुख्यालय पर कैम्प लगाया जायेगा। तथा मोतियाबिंद सम्बन्धी मरीजों को जौलीग्रांट ले जाकर आपरेशन किया जायेगा। शेष मरीजों को जिला चिकित्सालय पर लाकर इलाज किया जायेगा। बैठक में पुलिस अधीक्षक ददनपाल, मुख्य विकास अधिकारी उदय सिंह राणा, अपर जिलाधिकारी पी0एल0 शाह, संयुक्त मजिस्ट्रेट नितिका खण्डेवाल, बीआरओ के कमांडर एस0सी0 लूनिया, उपजिलाधिकारी सौरभ असवाल, शैलेन्द्र नेगी, जिला विकास अधिकारी प्रकाश रावत सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments