फर्जी तरीके से इंटरव्यू करके नियुक्ति देने में कुलपति विफल

0
609

फर्जी तरीके से इंटरव्यू करके नियुक्ति देने में कुलपति विफल

दून विवि में कुलपति ने भारी विरोध के वावजूद गलत तरीके से चयनित किये गये अभ्यर्थियों का इंटरव्यू रखा, इंटरव्यू के विरोध में आज सुबह से बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (SFI) के कार्यकर्त्ता  व दून विवि के छात्र-छात्राएं प्रदर्शन करें लगे व इंटरव्यू निरस्त करने की मांग की | प्रदर्शन को देखते हुए कुलपति ने बोला की सभी अभ्यर्थियों के कागज ठीक है अगर कोई भी कागज गलत होगा तो जिम्मेदारी प्रशासन की व स्वम् मेरी (कुलपति की होगी), परन्तु छात्र व छात्राएं प्रदर्शन करते रहे | फिर कुलपति व IQAC की अध्यक्ष कुसुम अरुणाचलम छात्रों को एसोसिएट प्रोफ़ेसर के लिए आए विवादित अभ्यार्थीयों  के सभी कागज दिखाने पर उसमे अनुभव, योग्यता तथा अन्य गड़बड़ी पाई गयी जिसको कि फर्जी तरीके से छुपाकर नियुक्ति का प्रयास हो रहा था |

इसके बाद कुसुम अरुणाचल ओर कुलपति मुकर गये  कि उन्होंने ऐसा नही बोला है की उनकी जिम्मेदारी होगी | कुलपति व विवि प्रशासन ने जाँच कमेटी की मांग पर चुप्पी साध ली ओर कोई बात करने के लिए तैयार नही हुआ |

प्रदर्शन होने से इंटरव्यू नही हुआ ओर कुलपति द्वारा इंटरव्यू प्रक्रिया रोक दी गयी, इसके बाद सभी छात्र-छात्राएं कुलपति व प्रोफ़ेसर कुसुम अरुनाचलम के उपर न्यायिक जाँच व इस्तीफे की मांग पर अड़ गये |

छात्रों द्वारा फोन पर हिरा सिंह बिष्ट (पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं वर्तमान विधायक) से वार्ता की गयी,उन्होंने आश्वासन दिया की  दून विवि के  छात्रों द्वारा जो मांग की जा रही है (राज्य सरकार के द्वारा न्यायिक जाँच) कराने को लेकर मुख्यमंत्री व उच्च शिक्षा मंत्री से वो बात करेंगे ओर साथ ही आश्वासन दिया की उत्तराखंड में उच्च शिक्षा को ऐसे बेकार नही होने दिया जायेगा |

साथ ही SFI राज्य सचिव ने फोन पर उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती इंदिरा ह्य्र्देश से फोन पर वार्ता की ओर उनको पूरा मामला समझाया उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि उनके संज्ञान में मामला है ओर साथ ही उन्होंने SFI व दून विवि के छात्र-छात्राओं को वार्ता करने के लिए शाम को बुलाया है |

पुलिस से छात्र-छात्राओं की व SFI कार्यकर्ताओं को विवि के अंदर न घुसने देने पर नोकझोक भी हुई |

SFI व दून विवि के छात्र-छात्राएं कुलपति ऑफिस व  ने प्रशासन को चेतावनी दी है की छात्र हितों की ऐसी दुर्दशा ओर बर्दास्त नही करी जाएगी ओर जब तक भ्रष्ट कुलपति वी.के.जैन एवं कुसुम अरुणाचलम तथा विजय श्रीधर जैसे भ्रष्ट पदाधिकारीयों को उनके पदों से हटाया नही जाता वे आन्दोलन जारी रखेंगे ओर मांग की कुसुम अरुणाचलम की न्युक्ति में मूल निवास की गड़बड़ी की जाँच की जाए ओर साथ ही पैसा लेकर पिछले पांच सालो में की गयी सारी नियुक्तियों का जो कि वी.के.जैन के कार्यकाल में हुई हो उस पर सीबीआई द्वारा जाँच कराई जाए ओर साथ ही कुलपति वी.के. जैन, कुसुम अरुणाचलम तथा विजय श्रीधर की सारी संपत्ति जब्त की जाए  |

वीके जैन जैसे भ्रष्ट कुलपतियो की वजह से उत्तराखंड में उच्च शिक्षा को उन्नत व विकास का सपना खंडित हुआ है ओर उसको हटाने के बाद नये कुलपति के चयन करते समय हरीश रावत सरकार राज्य के हितों में ध्यान में रखने की छात्रों ने सलाह दी |

इस अवसर पर हिमांशु चौहान, विपिन पंवार, राजेश चौहान, पंकज बडवाल, विनीता रावत, प्रचिता, नितिन मलेठा, नवनीत राजोरिया, अदिति रावत, कोकिल दास, गरिमा पुलकित, कुलदीप, सत्यम अदि बड़ी संख्या में SFI कार्यकर्त्ता व व दून विवि के छात्र-छात्राए मौजूद रहे इसके साथ ही ABVP के कार्यकर्त्ता भी प्रदर्शन में मौजूद थे |

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments