दून विश्व विधालय में वी सी कृपा से ताजपोशी का खेल

0
878

दून विश्व विधालय में वी सी कृपा से ताजपोशी का खेल

देहरादून उत्तराखंड में अपने को सरकारी नौकरी में फिट किये जाने का खेल बखूबी अंजाम दिया जा रहा है सचिवालय से लेकर विधानसभा और कई सरकारी महकमों में अपनों को सरकारी दामाद बना कर कई तरह के दलाल अपना कारोबार अंजाम दे चुके है राजनैतिक सरक्षण में चल रहा सरकारी नौकरी का ये खेल किसी से छुपा नहीं है लेकिन इस के बाद भी कोई कारवाही न होना सरकारी तंत्र की तरफ मिलीभगत की तरफ भी इशारा करता नज़र आ रहा है ताज़ा मामला देहरादून के दून विश्व्विधयल का सामने आया है राज्यपाल को हुई शिकायत के बाद इस बड़े मामले का पता चला है राजयपाल को भेजे गए पत्र में दून विश्व विद्यालय में कई तरह की की गयी नियुकतियो को गलत तरह से किये जाने की बातें कही गयी है पत्र में हवाला दिया गया है की प्रोफ़ेसर पद पर डॉ कुसम को राज्य के महिला कोटे से जगह दी गयी है जब डॉ कुसम किसी भी तरह से इस पद पर विराजमान नहीं हो सकती बता दे की देहरादून के दून विद्यालय में कई पदों पर की गयी तैनातियों को लेकर विरोध की बातें सामने आती रही है लेकिन किसी भी मामले पर आज तक कोई कारवाही नहीं हुई है डॉ कुसम अरुणाचलम को प्रोफेसर पद पर विराजमान किये जाने को लेकर इस पत्र में कई तरह के गम्भीर आरोप लगाए गए है और इस पद पर की गयी ताजपोशी को गलत करार दिया गया है यही नहीं डॉ अर्चना शर्मा,डॉ विजय श्रीधर को भी सहायक प्रोफेसर के पद पर विद्यालय के कुलपति द्वारा गलत तरह से नियुकतियो को किये जाने की बातें कही गयी है यही नहीं पत्र में डॉ उज्जवल कुमार,राशि मिश्रा पर भी कुलपति द्वारा नियम कानूनों को उलघन कर नियुकतियो को दिए जाने की बात कही गयी है इस बारे में जब यनिवर्सिटी के डी आर से बात की गयी तो उन्होंने भड़ास फॉर इंडिया को बताया की अभी राजयपाल के यहाँ से किसी तरह की जाँच का कोई पत्र नहीं मिला है

वी सी जैन क्यों है विवादित
शिक्षा के मंदिर में अपनों को सरकारी नौकरी में लगाए जाने का खेल राज्य में कोई नया नहीं है जिस को भी मौका मिलता है वो चोक्का मार लेता है कुछ इसी तरह का मामले देहरादून के इस शिक्षा के मंदिर में अंजाम दिया जा रहा है कुलपति जैन को लेकर विवाद जहां सामने आया है वही राजभवन में हुई शिकायत ने कई तरह की बातो को भी उजागर कर दिया है विवादों से वी सी जैन का पुराना नाता रहा है राजभवन में की गयी शिकायत भी इसी तरफ इशारा करती नज़र आ रही है अब अगर मामले की जाँच हुई तो कई पदों पर हुई नोकरियो को लेकर गाज गिरना तय है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments