महाराज के प्रेम आश्रम में नमो नाद गिनीज वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड की तैयारी

0
182

महाराज के प्रेम आश्रम में नमो नाद गिनीज वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड की तैयारी Dhol naad prem ashram haridwar satpal maharaj dhol-naad-prem-ashram-haridwar-satpal-maharajहरिद्वार कभी कभी कुछ ऐसा भी हो जाता है जब वो एक अनूठी पहल का रूप ले लेता है कुछ ऐसा ही उत्तराखंड सरकार में मंत्री सतपाल महाराज के आश्रम में आयोजित किया गया ढोल नाम प्रोग्राम बन गया है
उत्तराखंड संस्कृति विभाग ने की एक अनूठी पहल की है। ढोल वादकों के संरक्षण के लिए विभाग ने हरिद्वार जिले के प्रेमनगर आश्रम में ढोल वादन कार्यशाला नमो नाद का शुभारंभ किया है। इस मौके पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि इस कार्यशाला के लिए अबतक 1240 ढोल वादकों ने रजिस्ट्रेशन किया है। ये संख्या 1500 किये जाने के बाद नाम को गिनीज वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज़ करवाए जाने के लिए भेजा जायेगा

उत्तराखंड संस्कृति विभाग की पहल पर प्रेमनगर आश्रम में ढोल वादन कार्यशाला का आयोजन किया गया है जो दस अगस्त तक चलेगी। इसका मकसद उत्तराखंड में विलुप्त हो रही ढोल संस्कृति का संरक्षण करना है। इस मौके पर सूबे के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि यह सौभाग्य की बात है कि आज 1240 ढोल वादकों ने इसके लिए रजिस्ट्रेशन किया है। इस क्षेत्र में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की दिशा में भी कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गिनीज वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी इसे सम्मिलित करना लक्ष्य होगा और वह दिन उत्तराखंड के लिए गौरव का दिन होगा। उत्तराखंड में १५०० लोगो के ढोल वादकों का एक साथ होने के बाद नाम गिनीज वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज़ किया जा सकता है अभी तक इतनी बड़ी संख्या में राज्य के अंदर ढोल वादक नहीं जुट पाए है

वहीं कार्यशाला में उपस्थित लोक गायक प्रीतम भरतवाण ने कहा कि यह अद्भुत और सुखद संयोग है और इसकी शुरुआत हरि के द्वार से हुई है। उन्होंने ढोल को शिवपुत्र बताते हुए कहा कि ढोल वादन 16 संस्कारों में होता है, ढोल में विजय सार नाम की धातु से बना संकेत होता है और उंगली के ताल पृथक पृथक होते हैं। इसकी डोरी को नाग वर्ण कहा जाता है और इसकी पुडियो को सूर्य चंद्र कहा जाता है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments