देहरादून स्मार्ट सिटी को लेकर कांग्रेस माइलेज पर केंद्र सरकार का पोलटिकल ब्रेक

0
487

देहरादून स्मार्ट सिटी को लेकर कांग्रेस माइलेज पर केंद्र सरकार का पोलटिकल ब्रेक
देहरादून में स्मार्ट सिटी को लेकर केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को बड़ा झटका दिया है यही कारण है की भाजपा उत्तराखंड में कांग्रेस सरकार को कोई भी फायदा नहीं लेने देना चाहती इस मामले को लेकर राज्य के अंदर कांग्रेस भाजपा के खिलाफ माहोल तैयार कर सकती है वही भाजपा ने भी कांग्रेस सरकार के खिलाफ तैयारी कर ली है आने वाले दिनों में जहा भाजपा सड़को पर नज़र आएगी वही कांग्रेस भी भाजपा के खिलाफ आंदोलन करती हुई दिखेगी चुनावी साल होने के कारण भी भाजपा सरकार के खिलाफ कोई कमी नहीं करेगी भड़ास फॉर इंडिया को मिली सरकारी जानकारी के अनुसार बीते दिनों प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मीडिया को अपनी बाते सार्वजानिक की मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शुक्रवार को बीजापुर हाउस में प्रेसवार्ता करते हुए कहा कि भारत सरकार द्वारा जिन 20 शहरों का चयन स्मार्ट सिटी के लिए किया गया है उनमें किसी भी शहर का प्रस्ताव ग्रीन फील्ड आधारित नहीं था। उन्होंने कहा कि वे इसमें किसी तरह की राजनीति नहीं देखते हैं और उन्हें अभी भी विश्वास है कि आगे देहरादून को अवश्य अवसर मिलेगा। ग्रीन फील्ड आधारित प्रस्तावों के केंद्र स्तर पर मूल्यांकन में सम्भवतः अधिक समय लगता इसलिए केंद्र सरकार ने इस तरह के किसी भी प्रस्ताव को पहले 20 स्मार्ट सिटी में शामिल नहीं किया गया है।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि अनेक लोग इस पर भी प्रश्न कर रहे हैं कि देहरादून के लिए ग्रीन फील्ड आधार ही क्यों लिया गया, रेट्रोफिटिंग या रिडेवलपमेंट आधार क्यों नहीं लिया गया। रेट्रोफिटिंग में मुख्यतः पेयजल आपूर्ति, सीवरेज को लिया जाता जबकि हम पहले ही देहरादून में इस पर भारी निवेश कर चुके हैं और इन कार्यों पर काम चल रहा है। रिडेवलपमेंट में शर्त यह थी कि जिस भी क्षेत्र में रिडेवलपमेंट किया जाता वहां दुबारा पुनर्निर्माण करना पड़ता। ऐसा देहरादून में किया जाना व्यावहारिक रूप से सम्भव नहीं था। इसके लिए नगर निगम से अनुमति जरूरी होती। नगर निगम के लिए भी ऐसा किया जाना सम्भव नहीं था।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि उन्हें अब भी उम्मीद है कि आगे देहरादून को स्मार्ट सिटी के लिए चयनित किया जाएगा। यदि ऐसा किया जाता है तो हम चयनित क्षेत्र में ग्रीन कवर को बनाए रखेंगे। जल स्तर को सुधारने के लिए योजना बनाई गई है। स्मार्ट सिटी से जो भी आय होगी उसका 50 प्रतिशत हिस्सा पुराने देहरादून के विकास पर व्यय किया जाएगा और 50 प्रतिशत हिस्सा उŸाराखण्ड के अन्य भागों विशेषतः पर्वतीय क्षेत्रों में स्मार्ट टाउन विकसित करने पर किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि प्रदेश की साईलेंट मेजोरिटी विकास चाहती है और सरकार इस भावना का सम्मान करते हुए प्रदेश के विकास के लिए काम करती रहेगी।
bhadas4india देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल www.bhadas4india.com की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments