Dehradun Robery Case Police Arrest:लूट की कहानी का मास्टरमाईंड क्लेक्शन एजेंट,साथियो सहित गिरफ्तार

0
357

Dehradun Robery Case Police Arrest: लूट की कहानी का मास्टरमाईंड क्लेक्शन एजेंट,साथियो सहित गिरफ्तार

 लूट की कहानी का मास्टरमाईंड क्लेक्शन एजेंट

देहरादून कालिदास रोड पर आखो में मिर्च डाल कर लूट किये जाने की कहानी में क्लेक्शन एजेंट अपनी की कहानी में पकड़ा गया है लूट की वारदात को जिस जगह पर अंजाम दिया गया था वही से कहानी में कोई न कोई झोल नज़र आ रहा था देहरादून कालिदास रोड हमेशा काफी अधिक लोगो की आवाजाही की राह रहती है ऐसी जगह पर लूट की वारदात को अंजाम देकर वहाँ से भाग जाना आसान नहीं लेकिन लूट की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी अपने ही जाल में फस गए भड़ास फॉर इंडिया ने लूट की इस खबर को पूर्व में ही फ़र्ज़ी करारा दे कर सवालो के घेरे में क्लेक्शन एजेंट आशुतोष गुप्ता को लाकर खड़ा कर दिया था पुलिस ने जब मामले का खुलासा किया तो वही कहानी निकल कर आयी जिसकी संभावना की तरफ इशारा किया जा रहा था

 

बता दे की बीती 26.12.17 को सिटि कन्ट्रोल रुम द्वारा सूचना मिली की कालीदास रोड पर किसी व्यक्ति के साथ लूट हो गयी है इस सूचना को गम्भीरता से लेते हुए तत्काल कोतवाली पुलिस व उच्चाधिकारी गण मौके पर पहुँचे तथा वादी से प्रारम्भिक पूछताछ की गयी तो वादी द्वारा बताया गया कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा उसकी आंखों में मिर्च डालकर उससे 23,86,512/- रू0 से भरा बैग छीनकर ले गये हैं जिस पर तत्काल सम्पूर्ण नगर क्षेत्र में चैकिंग करायी गयी तथा वादी की तहरीर के आधार पर थाना कोतवाली नगर पर मु0अ0सं0 562/17 धारा 392 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया ।

घटना की गम्भीरता को दृष्टिगत रखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व पुलिस अधीक्षक नगर के पर्यवेक्षण में क्षेत्राधिकारी नगर के निर्देशन में टीम गठित की गई । पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल के आस पास के दुकानों व प्रतिष्ठानों की CCTV फूटेज ली गई ।जिनको देखने पर पता चला कि वादी द्वारा जो हूलिया लूटेरों का बताया गया था उस हुलिये का कोई भी व्यक्ति घटना स्थल के आस-पास दिखाया नहीं दिया एवं घटना स्थल का काफी व्यस्त रोड पर होने के बाबजूद किसी भी व्यक्ति द्वारा घटना को न देखना अपने आप में संदिग्ध प्रतीत हो रहा था जिस पर वादी से शख्ती से पूछताछ की गयी जिसमें वादी टूट गया एवं वादी ने बताया कि वह रेडियन्ट कम्पनी में विभिन्न संस्थाओं से पैस लेकर बैंक में जमा कराता था चूंकि मेरी सेलरी कम थी और खर्चे ज्यादा थे तो पैसों के लालच में मैने अपने दोस्तों श्रीकान्त बंसल व अंकित धीमान के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया है वे दोनो बेरोजगार है व गरीब हैं हमने सोचा कि लूट की झूठी योजना बनाकर हम पैसे रख लेंगे और चूंकि इस पैसे का इन्श्योरेंस होता है तो हमने सोचा था कि किसी का नुकसान भी नहीं होगा और उन्हे इन्श्योरेंस कम्पनी से पैसा भी मिल जायेगा । वादी आशु गुप्ता के दोनों साथी रूपये लेकर मौके से चले गये थे जिनको घरों पर तलाश किया तो नहीं मिले CDR आदि के माध्यम से आज दिनांक 28.12.17 को दोनों अभियुक्तों को ISBT के पास से शाम लगभग 8.00 बजे गिरफ्तार किया गया जिनके पास से वही बैग मिला जिसमें कुल 23,49,391/- (तेइस लाख उन्चास हजार तीन सौ इक्यानवे) रू0 बरामद हुये ।
उक्त घटना के शीघ्र अनावरण हेतु उच्चाधिकारी गणों व स्थानीय जनता द्वारा भूरी-भूरी प्रशंशा की गई व उत्साहवर्धन हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा 2500/-रु से पुरस्कृत करने की घोषणा की गई ।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments