“तीतर बन भीतर घुसा” और शर्मशार कर दी पत्रकारिता

0
486

“तीतर बन भीतर घुसा” और शर्मशार कर दी पत्रकारिता: Dehradun Media Person Video 

देहरादून। उत्तराखंड में कुछ एजेंडा पत्रकार हो गए जिन्हे यह तक पता नहीं कि किस मंत्री से क्या पूछना है और क्या नहीं। बस माइक आई डी उठाकर तो ऐसा समझते है की चैनल ने उन्हें बंदूक थमा दी हो और कह दिया हो जा इसको दिखा कर अपना उद्देश्य पूरा करो।

"तीतर बन भीतर घुसा" और शर्मशार कर दी पत्रकारिता

उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री से १३ का पहाड़ा पूछना एक ऐसे चैनल के पत्रकार द्वारा जिसके चैनल मालिक ऊपर कई तरह के आरोप लग गए हो और तमाम विभाग उसकी जांच कर रहे हो।

यह कैसी पत्रकारिता है की “ऐरा गैरा नत्थू खैरा” कोई भी मुँह उठाकर कुछ भी पूछ ले. भड़ास के पास ऐसे सबूत है की १७ जुलाई को शिक्षा मंत्री को चैनल के प्रोग्राम में चैनल द्वारा आमंत्रित किया गया था पर चैनल के प्रोग्राम में मंत्री जी व्यस्ता के कारण नहीं जा सके। इस घटना के बाद चैनल के पत्रकार द्वारा मंत्री जी के सहकर्मी को फ़ोन पर मैसेज किया गया, जिसमे मंत्री जी को देख लेने की बात कही गयी। मंत्री जी ने इस धमकी को हल्के में लिया गया और उस पत्रकार पर कोई कार्यवाही नहीं की गयी।

उस पत्रकार को चैनल के प्रोग्राम में मंत्री जी को लाने की जिम्मेदारी थी,अब जब मंत्री जी नहीं आ सके तो उस पत्रकार को चैनल द्वारा काफी खरी खोटी सुनने को मिली। अब बौखलाए हुए पत्रकार ने मंत्री जी के सहकर्मी को मैसेज कर दिया और उसके एक दिन बाद मंत्री जी के पास इंटरव्यू करने पहुंच गया और एक दो अन्य सवाल पूछने के बाद मंत्री जी का रियलिटी चेक करने की बात करने लगा। शिक्षा मंत्री जी से बौखलाए हुए पत्रकार ने १३ का पहाड़ा पूछ डाला।

अब चैनल के पत्रकार द्वारा मंत्री जी से १३ का पहाड़ा पूछने की निंदा पुरे पत्रकार जगत में हो रही है। ऐसे पत्रकारों अपने निजी उद्देश्यों की पूर्ति के लिए पत्रकारिता को शर्मशार कर रहे है। अभी हाल में ही चैनल मालिक कोबरापोस्ट के स्टिंग में साफ़ साफ़ एजेंडा पत्रकारिता करते हुए कैद हुए थे और इनका असली चेहरा सबके सामने उजागर हुआ था।

भड़ास ऐसी पत्रकारिता की कठोर निंदा करता है और ऐसे पत्रकारों के बारे में तो एक ही कहावत चरितार्थ होती है कि “छछूँदर के सिर में चमेली का तेल”। अब ऐसे अयोग्य लोग उत्तराखंड में पत्रकारिता करेंगे और अपना उल्लू सीधा करंगे तो उनका अंजाम एक दिन बहुत ही बुरा होगा।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments