दीपावली गिफ्ट पर उत्तराखंड डीजीपी ने लगाया बैन Deepawali Gift Banned

0
209

दीपावली गिफ्ट पर उत्तराखंड डीजीपी ने लगाया बैन :Deepawali Gift Banned By Uttarakhand Dgp
देहरादून दीपवाली पर अगर अपने पुलिस अधिकारी को गिफ्ट उपहार देने का विचार बना रहे है तो ये विचार आपके लिए मुसीबत भरा हो सकता है उत्तराखंड पुलिस विभाग के डीजीपी अनिल रतूड़ी ने किसी भी तरह का उपहार मुक्त दीपावली मनाये जाने का सन्देश देने के लिए इसी तरह का आदेश अमल में लाने के लिए एक नयी परम्परा को राज्य में शुरू किया है पुलिस कर्मियों को हिदायत दीपावली पर न दे अपने वरिष्ठ अफसरों को तोहफा! डीजीपी अनिल रतूड़ी ने पुलिस विभाग में एक स्वस्थ परम्परा बनाये जाने के उददेश्य से पुलिस विभाग के सभी पुलिसकर्मियों को अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दीपावली के पावन पर्व पर किसी तरह का उपहार न देने के कड़े आदेश दिए हैं।दीपावली गिफ्ट पर उत्तराखंड डीजीपी ने लगाया बैन

बता दे की दीपावली पर गिफ्ट दिए जाने की एक नयी परम्परा को चलन काफी समय से चलता आ रहा है यही नहीं सरकारी दफ्तरों में अपने अधिकारी से लेकर छोटे अधिकारी भी गिफ्ट परम्परा को लेकर एक दूसरे को गिफ्ट दिए जाने के लिए तैयार रहते है यही वजह है की दीपावली से पहले गिफ्ट उपहार दिए जाने के लिए अपने अधिकारी के आवास पर भीड़ साफ तोर पर दिखाई देती रहती है कहा ये भी जाता है जिसके पास अधिक गिफ्ट पहुंच रहे है वो अधिक वजन रखता है लेकिन उत्तराखंड का पुलिस विभाग इस बार दीपावली पर किसी भी तरह का उपहार देता हुआ नज़र नहीं आएगा पुलिस विभाग में इस तरह का एक नया प्रयोगं अमल में लाकर एक नयी परम्परा को पुलिस विभाग में शुरू किया गया है।

दीपवाली में उपहार दिए जाने का चलन काफी पुराना है जनपदों के पुलिस अधिकरी आवास से लेकर सरकारी दफ्तरों में उपहार दिए जाने की परम्परा को इस बार नहीं देखा जा सकेगा उत्तराखंड के पुलिस विभाग द्वारा दीपावली पर उपहार मुक्त दीपावली मनाये जाने को लेकर उत्तराखंड पुलिस विभाग के एडीजी अपराध कानून वयवस्था अशोक कुमार द्वारा राज्य के सभी जिला पुलिस के अधिकारी से लेकर राज्य के समस्त पुलिस कर्मियों को अमल में लाये जाने के निर्देश दिए गए है। इस आदेश के आने के बाद कई जनपदों के ऐसे पुलिस कप्तान जिनके आवासों पर पुलिस कर्मियों की भीड़ लगी रहती थी इस बार दीपावली पर वहाँ वीरानी नज़र आएगी उत्तराखंड पुलिस के डीजीपी की इस पहल का पुलिस विभाग से लेकर जनता के बीच भी एक नयी परम्परा को शुरू किये जाने को अच्छा कदम बताया जा रहा है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments