दीपावली पटाखा प्रतिबंध: 200 करोड़ का पटाखा फुस्स

0
69

दीपावली पटाखा प्रतिबंध: 200 करोड़ का पटाखा फुस्स:DEEPAWALI 2017 FIRE BAN 200 CRORE
पटाखा बिक्री पर सुप्रीम कोर्ट के प्रतिबंध से दिल्ली-एनसीआर के पटाखा विक्रेताओं के पास करीब 200 करोड़ का पटाखा फंस गया है। अकेले दिल्ली में ही 50 से अधिक थोक और 300 से अधिक फुटकर पटाखा विक्रेता है। इसी तरह एनसीआर के शहरों में करीब 200 फुटकर पटाखा विक्रेता हैं। पटाखा कारोबारियों के मुताबिक पहले प्रतिबंध हटाने व कुछ शर्तो के साथ बिक्री की मंजूरी और अब फिर से प्रतिबंध के चलते थोक व खुदरा पटाखा कारोबारियों के सामने गंभीर संकट पैदा हो गया है।दीपावली पटाखा प्रतिबंध

अस्थाई दुकानदारों ने दीपावली पर पटाखा बेचने के लिए लाइसेंस लेने के साथ पटाखों का आर्डर दे दिया है। स्थान भी किराये पर ले लिया है। इन सब कवायद से एक-एक दुकानदारों के लाखों रुपये फंस गए हैं। 1दिल्ली फायरवर्क्‍स ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव जैन के मुताबिक यह फैसला दीपावली से ठीक पहले सैकड़ों पटाखा कारोबारियों के साथ ही हजारों कर्मचारियों के जीवन में अंधेरा लाने वाला है। पिछले वर्ष 25 नवंबर को दिल्ली-एनसीआर में पटाखा बिक्री पर प्रतिबंध लगा था। इसे इस वर्ष 12 सितंबर को कुछ शर्तो के साथ हटाया गया। दीपावली पर पटाखा बिक्री के लिए लाइसेंस जारी कर दिए गए। अब 27 दिन बाद फिर इस पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

प्रतिबंध जारी रखा जाता तो अधिक समस्या नहीं आती, लेकिन अब तो तैयारियां पूरी हो चुकी है। पार्को व खाली मैदानों में लगने वाले दीपावली मेला के साथ ही सदर बाजार, चांदनी चौक समेत दिल्ली के अन्य छोटे-बड़े बाजारों में विशेष तौर पर खुदरा दुकानदारों ने स्थान बुक करा लिए हैं। सदर बाजार में एक-एक दुकानें एक लाख रुपये से अधिक के महीने के किराए पर हैं। पटाखों के आर्डर दे दिए गए हैं व काफी हद तक पटाखों की सप्लाई भी हो चुकी है। सबसे बड़ी बात कि अस्थाई दुकानदारों को लाइसेंस सीमित अवधि के लिए जारी होता है।

दीपावली बाद उनका लाइसेंस अवैध होने के साथ उनके पास रखा पटाखा भी अवैध हो जाएगा। वहीं, जामा मस्जिद पटाखा मार्केट के पटाखा विक्रेता अमित जैन ने बताया कि इस वर्ष बाहर से पटाखे नहीं मंगाए गए हैं। दिल्ली एनसीआर के गोदामों और दुकानों में मौजूद 50 लाख किलो पटाखों को ही खपाने का प्रयास चल रहा था। मुश्किल से पांच लाख किलो पटाखे ही प्रतिबंध हटाने के बाद बिके होंगे। बाकि की बिक्री दीपावली पर होती। सदर बाजार के पटाखा विक्रेता हरजीत सिंह छावड़ा ने कहा कि 21 अक्टूबर तक ही पटाखा बिक्री की अनुमति है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments