डीएवीपी में देहरादून मीडिया वालो की भिड़ंत

0
827

देहरादून। पत्रकारों का आपसी विवाद किसी से छुपा नहीं एक दूसरे को नीचा दिखाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं अगर बात आपसी पत्रकारों की हो तो इसका तो देवभूमि उत्तराखंड में कहना ही क्या, एक दूसरे को नीचा दिखाने के लिए वह यह भी भूल जाते हैं कि वह जिस जगह पर खड़े हैं वहां पूरी देवभूमि की बदनामी करवा रहे होंगे ऐसा ही एक मामला भारत सरकार के डीएवीपी प्रांगण में उस समय देखने को मिला जब देहरादून के दो पत्रकार आपस में भिड़ गए मामला इतना आगे बढ़ा कि वो डीएवीपी के सीसीटीवी कैमरे में कैद भी हो गया।

डीएवीपी में देहरादून मीडिया वालो की भिड़ंत

बीते दिनों डीएवीपी में समाचार पत्रों के रिनुअल की फाइल जमा किए जाने का काम इन दिनों चल रहा था एक तारीख को इसकी अंतिम तिथि फाइल जमा करने की थी इसी दिन देहरादून के दो मीडिया वाले आपस में ऐसे भिड़ गए जिसके बाद वहां तमाशा इकट्ठा हो गया देश भर के समाचार पत्रों के लोग उनके तमाशे को देखकर यह सोचने पर मजबूर हो गए कि क्या यह लो जो आपस में लड़ रहे हैं पत्रकार बिरादरी से आते हैं बाद में किसी तरह बीच-बचाव कर मामले को शांत किया गया लेकिन इस बीच यह सारा मामला डीएवीपी के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो चुका था।

देहरादून के यह दोनों अखबार वाले किस बात को लेकर आपस में उलझे है इसको लेकर अलग अलग तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म है एक मीडियाकर्मी ने बताया कि वह भी इस आपसी भिड़ंत के गवाह रहे और दोनों ही पक्षों की तरफ से अशोभनीय टिप्पणी किए जाने के साथ साथ सिर्फ जूते निकाल कर मारे जाने की नौबत तक आ गई थी लेकिन किसी तरह बीच-बचाव कर मामला दूर किया गया लेकिन यह आपसी विवाद भारत सरकार के डीएवीपी प्रांगण में क्यों किया गया इसको लेकर भी अलग अलग तरह की चर्चाएं सामने आ रही हैं अगर पैसे का लेन देन था तो उसे सार्वजनिक चौराहे पर पत्रकारों का आपसी विवाद क्यों किया गया।

एक दूसरे को नीचा दिखाने के लिए वह किसी भी हद तक जा सकते हैं इस बात का पता था तो दिल्ली में जाकर इस विवाद का वजह क्या रही ये कोई भी बताये जाने को तैयार नहीं है अगर बात आपसी पत्रकारों की हो तो इसका तो देवभूमि उत्तराखंड में कहना ही क्या एक दूसरे को नीचा दिखाने के लिए वह यह भी भूल जाते हैं कि वह जिस जगह पर खड़े हैं वहां पूरी देव भूमि की बदनामी हो रही होगी लेकिन ऐसे लोगो को ये परवाह नहीं होती जिसके कारण पूरी मीडिया बिरादरी की बदनामी हो जाती है।

देहरादून के दोनों मीडिया वालो का आपसी विवाद इन दिनों सोशल मीडिया से लेकर मीडिया कर्मी लोगो के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है ऐसा नहीं है ये कोई पहला विवाद हो इसी तरह का विवाद दूसरे मीडिया वालो के साथ भी पूर्व में नज़र आ चूका है देहरादून में विवाद को लेकर तो मामला पुलिस तक पहुंच गया था लेकिन उसके बाद मामले में चर्चा का विषय कई दिनों तक बना रहा है देहरादून के मीडिया वालो का दिल्ली में विवाद कुलमिलकर काफी चर्चा का कारण बना हुआ है जिसके गवाह कई मीडिया कर्मी भी बने।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।