किसानो की आत्महत्या मामलो को लेकर कांग्रेस पहुंची राज्यपाल दरबार

0
112

किसानो की आत्महत्या मामलो को लेकर कांग्रेस पहुंची राज्यपाल दरबार :Congress  Sucide Farmer Case Meet Uttarakhand Governar
देहरादून प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेसजनों के एक प्रतिनिधिमण्डल ने राजभवन देहरादून में राज्यपाल डाॅ0 के0के0 पाॅल से मुलाकात कर उन्हें राज्य लगातार हो रही किसानों की आत्महत्या एवं उनकी समस्याओं को लेकर ज्ञापन प्रेषित किया।


श्री राज्यपाल को सौंपे ज्ञापन में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष श्री प्रीतम ने कहा है कि जीवन के लिए प्राणवायु और जल के बाद तीसरे स्थान पर अन्न सर्वोपरि है। चिन्ता का विशय है कि आज सबसे अधिक उपेक्षा देष के अन्नदाता की हो रही है। किसानों को उनके उत्पाद का उचित मूल्य न मिल पाने, समय पर खाद-बीज न मिल पाने तथा बिजली व सिंचाई सुविधा की परेषानियों के कारण किसान लगातार कर्ज के बोझ से दबता जा रहा है। फसल का उचित मूल्य न मिलने से किसान बैंकों व साहूकारों से लिया गया कर्जा नहीं लौटा पा रहे हैं। प्रदेष का किसान अपनी समस्याओं के समाधान को लेकर अपेक्षा कर रहा है कि केन्द्र व राज्य सरकार उनकी समस्याओं का निदान करेगी, लेकिन केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में अभी तक कोई भी सकारात्मक निर्णय नहीं लिया गया है। ऐसी स्थिति में देष व प्रदेष में किसानों की आत्महत्या के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है।

उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में 2017 में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनाव के दौरान स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा अपनी विभिन्न चुनावी सभाओं तथा भाजपा ने अपने दृश्टि पत्र में राज्य की जनता से वायदा किया था कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने की दषा में किसानों के कर्ज माॅफ किये जायेंगे, किसानों को ब्याज रहित ऋण दिया जायेगा तथा गन्ना किसानों का बकाया भुगतान 15 दिन के अन्दर किया जायेगा। राज्य सरकार के कार्यकाल को एक वर्श से अधिक का समय व्यतीत होने के उपरान्त भी राज्य सरकार अपने इन वायदों पर अमल करने में विफल रही है।

प्रदेष कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि देष में किसानों की आत्महत्या से अभी तक अछूती देवभूमि उत्तराखण्ड में भी 16 जून 2017 से किसानों की आत्महत्या का सिलसिला लगातार जारी है। बैंक व साहूकारों के कर्ज के बोझ से दबे अब तक कुल 9 किसान आत्महत्या कर चुके हैं। जनपद पिथौरागढ़ के श्री सुरेन्द्र सिह, जनपद टिहरी के विकासखण्ड प्रतापनगर निवासी श्री दिनेष प्रसाद सेमवाल एवं विकासखण्ड चम्बा के श्री राजकुमार, जनपद उधमसिंहनगर के विकासखण्ड खटीमा के श्री रामऔतार एवं विकासखण्ड बाजपुर के श्री बलविन्दर सिह द्वारा आत्महत्या की गई तथा उधमसिंहनगर के विकासखण्ड खटीमा के किसान श्री भजन सिह की बैंक की वसूली के नोटिस आने के बाद हृदय घात से हुई मृत्यु, जनपद हरिद्वार के झबरेड़ा निवासी किसान सुदेष कुमार त्यागी द्वारा आत्महत्या और अब जनपद उधमंिसहनगर के बिज्टी गांव निवासी मुख्त्यार सिंह ने बैंक व साहूकारों लिए कर्ज को न चुका पाने के कारण आत्महत्या का रास्ता अख्तियार किया है, यह गम्भीर चिन्ता का विशय है। उत्तराखण्ड की देवभूमि में किसानों की आत्महत्या का सिलसिला आगे न बढ़े, इस हेतु राज्य सरकार के स्तर पर किसानों की समस्याओं के समाधान की दिषा में अविलम्ब ठोस प्रभावी कदम उठाये जाने की आवष्यकता है।
प्रदेष कांग्रेस कमेटी प्रतिनिधिमण्डल ने श्री राज्यपाल से आग्रह करते हुए निम्न बिन्दुओं पर प्रदेष सरकार को तत्काल कार्रवाई के निर्देष देने की मांग की है।
1. उत्तराखण्ड राज्य के किसानों का ऋण तत्काल माफ किया जाय।
2. फसलों का समर्थन मूल्य घोशित करते हुए किसानों के उत्पादों को खरीदा जाय तथा मौसम की मार से बर्बाद हुई फसलों का किसानों को उचित मुआबजा दिया जाय।
3. किसानों को कृशि कार्य हेतु ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराया जाय।
4. मृतक किसानों के आश्रितों को समुचित आर्थिक सहायता प्रदान की जाय।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments