कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र 2017 में 10 सूत्रीय बिन्दुओं को शामिल करने का अनुरोध

0
294

कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र 2017 में 10 सूत्रीय बिन्दुओं को शामिल करने का अनुरोध

रानीखेत कांग्रेस नेता डी एन बड़ोला ने किशोर उपाध्याय, उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष, को पत्र लिखकर कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र 2017 में 10 सूत्रीय निम्न बिन्दुओं को शामिल करने का अनुरोध किया है, जिसमें रानीखेत जिला व नगरपालिका एवं रानी झील आदि के निर्माण हेतु लिखा है ! उनके द्वारा लिखे गए सुझाव निम्न है :
1)रानीखेत जिला एवं नगर पालिका का निर्माण तुरंत किया जाय !
2)रानीखेत मैं एक झील है ! इसके चौडीकरण और उच्चीकरण किया जाना पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनेगा ! हल्द्वानी से रानीखेत आने तक कुल 10 ताल (झील) हैं ! भीमताल, नौकुचियाताल,सात ताल (seven lakes) तथा नैनीताल l रानी झील को रानीताल का नाम देकर प्रचार किया जा सकता है ! “तालों मैं ताल 11वा ताल रानी ताल”
3)सम्पूर्ण भारत मैं प्रॉपर्टी पर सरकार ने वाटर टैक्स व टोल टैक्स बहुत पहले समाप्त कर दिया है ! परन्तु रानीखेत कटक पालिका क्षेत्र होने के कारण यहाँ यह दोनों टैक्स लिए जाते हैं ! मुख्य मंत्री जी ने उत्तराखण्ड का चार्ज लेते ही कहा था कि वाटर टैक्स वह राज्य सरकार से देने का प्रयास करेंगे ! अतः इस मुद्दे को चुनाव घोषणा पत्र पर शामिल करने की कृपा करें !
4)रानीखेत में जड़ी बूटी प्रचुर मात्र मैं उपलब्ध है ! रानीखेत मैं आयुर्वेद के सम्बन्ध में राज्य सरकार द्वारा वर्तमान मैं कोई कार्य नहीं हो रहा है इसलिए अनुरोध है कि रानीखेत मैं उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय का कैंपस खोला जाय जिससे कि कुमायूं क्षेत्र मैं भी आयुर्वेद का प्रचार प्रसार हो सके !

5)रानीखेत को अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थली के रूप मैं विकसित किया जाय ! इस हेतु निम्न बिंदुओं पर ध्यान देने की आवश्यकता है !
6)रानीखेत क्षेत्र से जोर-शोर से पलायन हो रहा है l नतीजतन गाँवों मैं भवन धूल-धुसरित हो रहे हैं l इन मैं से अनेक मकान हेरिटेज की श्रेणी मैं आते हैं ! ऐसे भवनों को निगम किराये पर लेकर पर्यटकों को आकर्षित करने हेतु कुमाउनी ग्रामीण परिवेश की सुविधा देकर पर्यटन को बढ़ावा देने हेतु कार्य !करना चाहिए ! दिगौटी, मानीला, बिनसर, जौरासी आदि हेरिटेज गेस्ट हाउस के रूप मैं विकसित किये जा सकते हैं l
7) आधुनिक ट्रेंड के अनुसार पर्यटक अनछुवे स्थलों मैं जंगले के बहुत अन्दर तक भ्रमण के शौकीन है l चौबटिया के समीप भालू डाम पर्यटकों की पसंद बन रहा है l यहाँ की वर्जिन (virgin) ब्यूटी देखते ही बनती है l चौबटिया से भालू डाम तक रोपवे निर्माण पर्यटकों के लिए एक अनोखी सौगात होगा l इसकी संभावना तलाशने हेतु निगम की एक टीम का भालू डाम का दौरा किया l चौबटिया से भालू डाम तक लगभग 3 किलोमीटर का ट्रैकिंग रूट निर्माण भी पथ भ्रमण के शौक़ीन पर्यटकों के लिए श्रेयस्कर हो सकता है ! इस स्थल तक पहुँचने हेतु जीप जाने योग्य सड़क पहले से ही है l 1903 मैं ब्रिटिश द्वारा निर्मित अर्ध-गोलाकार (Semi-Circular) डाम/लघु झील मैं मत्स्य आखेट तथा अनछुवे स्थल मैं देवदार, बांज, चीड़, बुरांश आदि के घने जंगलों के सुरम्य वातावरण मैं बेजोड़ फोटोग्राफी/वीडियोग्राफी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बन सकती है l
८) चौबटिया-रानीखेत मैं रॉक-क्लाइम्बिंग व पैराग्लाइडिंग की सुविधा प्रदान करने हेतु कार्य करना l
9)रानीखेत मैं विभिन्न स्थानों मैं हिमालय दर्शन, फोटोग्राफी, विडियोग्राफी आदि हेतु व्यू पॉइंट स्थापित किये जाने चाहिए l पूर्व मैं पाठक बेकरी के समीप अपर मॉल मैं हिमालय दर्शन हेतु दूरबीन सहित एक व्यू पॉइंट स्थापित किया गया था l वह दूरबीन हटाई जा चुकी है उसके स्थान पर एक नई ज्यादा शक्तिशाली दूरबीन स्थापित की जानी चाहिए l…
10) चौबटिया बाजार मुख्य सड़क से सटे मैदान से प्राकर्तिक सौन्दर्य का अद्भुत नजारा दिखता है l इस स्थल की सुन्दरता को देखते हुवे हमने इसका नाम रखा है ‘चंद्रलोक’ l यदि संभव हो तो इसे किराए पर लेकर पिकनिक स्थल के रूप मैं विकसित किया जा सकता है l

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments