CHANGE.ORG बच्चो की सुरक्षा को लेकर यहाँ करे वोटिंग

0
118

CHANGE.ORG बच्चो की सुरक्षा को लेकर यहाँ करे वोटिंग Change.org Voting Child
स्कूलों में बढ़ रहे मामलो को लेकर बच्चो के अभिवावक जहा डरे हुए है वही समाज में कुछ लोग ऐसे भी जो अपना विजन स्कूलों में किस तरह का हो उस को लेकर अपनी मुहीम जनता के बीच लेकर जा रहे है अगर आप भी अपने विचार स्कूली बच्चो के साथ हो रहे अपराध को लेकर चिंतित है तो अपने विचार दे सकते है चेंज डॉट org में जाकर अपने विचारो को आगे बढ़ाये ताकि आपका बच्चा सुरक्षित पढ़ाई के लिए माहौल प् सके

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के परिसर में हुई छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या ने देशभर को झकझोरा है। अपने नौनिहालों के प्रति अभिभावकों की चिंता भी बढ़ गई है। सोशल मीडिया इस तनाव से निजात का माध्यम बनकर उभरा है। बेंगलुरु निवासी एक महिला ने एक वेबसाइट के जरिए स्कूल में बच्चों की सुरक्षा के प्रति जवाबदेही की मांग की है। याचिका प्रारूप में अपडेट हुई उनकी मांग को देशभर में हजार लाइक्स मिले हैं। बेंगलुरू की आम्रपाली धावरे ने गुरुग्राम की घटना से आहत होकर ये मुहिम शुरू की है।

वेबसाइट पर उन्होंने बच्चों के लिए सुरक्षित स्कूल बनाओ नाम से याचिका प्रारूप दायर किया है, जिसमें भारत सरकार और महिला व बाल विकास मंत्री मेनका गांधी से ऐसे मामलों पर तुरंत रोक और कड़ी कार्रवाई की गुहार लगाई है। उन्होंने लिखा है कि हत्या, शोषण जैसे जघन्य मामलों को स्कूल गंभीरता से नहीं ले रहें हैं। डर का ये माहौल अशिक्षा के अंधकार को बढ़ावा देगा। उन्होंने सख्त कानून बनाने की मांग की है, ताकि अभिभावक स्वस्थ माहौल में बच्चों की शिक्षा जारी रख सकें। अन्य अभिभावकों ने भी सुरक्षा से संबंधी सभी जरूरी नियमों व निर्देशों को कड़ाई से पालन कराने की की। लोगों ने सभी बच्चों को सेल्फ डिफेंस का प्रशिक्षण देने, स्कूल में बाल शोषण निवारण समिति का गठन करने, चाइल्ड काउंसलर नियुक्त करने व बच्चों को गुड टच – बैड टच के बारे में जरूर बताने की मांग की है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments