केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार से उत्तराखंड मुख्यमंत्री ने की मुलाकात

0
355

देहरादून मुख्यमंत्री हरीश रावत और केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री अनंत कुमार के मध्य हुई वार्ता में राज्य में सेंट्रल इंस्टटीयूट आॅफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एण्ड टैक्नोलाॅजी की स्थापना पर सहमति हुई है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि इस संस्थान की स्थापना से प्रदेश में प्लास्टिक अवशिष्ट के निस्तारण में सहयोग मिलेगा। साथ ही नई तकनीक के प्रयोग से प्लास्टिक को रिसाईकल कर उपयोग मे लाया जा सकेगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने केन्द्रीय मंत्री को आश्वस्त किया कि राज्य सरकार की ओर से इस संस्थान की स्थापना हेतु हर संभव सहयोग प्रदान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अपनी भागदारी और साझीदारी के प्रति वचनबद्ध है।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड में इस संस्थान की स्थापना से हमारे युवाओं को शोध व रोजगार के क्षेत्र में नये अवसर मिलेंगे। हमारा प्रयास होगा कि इस संस्थान को सेंटर आॅफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित किया जाय। आज प्लास्टिक निस्तारण की समस्या हम सभी के लिए जटिल होती जा रही है। प्लास्टिक के कारण पर्यावरण को सबसे अधिक नुकसान हो रहा है। इससे हमारी नदियां, हमारे जंगल सभी को पर्यावरणीय क्षति हो रही है। इस संस्थान की स्थापना से राज्य को काफी लाभ होगा, साथ ही अन्य राज्यों के लिए भी उपयोगी सिद्ध होगा। उत्तराखण्ड हिमालयी राज्य है और हमारी सबसे बड़ी चिंता पर्यावरण प्रदूषण को कम करना है। हम इसी दिशा में आगे बढ़ रहे है। केन्द्र और राज्य सरकार मिलकर इस संस्थान को एक बेहतरीन संस्थान के रूप में विकसित करेगेे। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि देहरादून में देश की शीर्ष वैज्ञानिक संस्थाएं स्थापित है, जो देश के लिए बेहतरीन शोध परक कार्य कर रही है।

यह जानकारी मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार एवं प्रवक्ता सुरेन्द्र कुमार द्वारा दी गई है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments