सी बी आई का दवाब या टिकट का खेल यशपाल के भाजपा में जाने का खेल

0
1244

सी बी आई का दवाब या टिकट का खेल यशपाल के भाजपा में जाने का खेल
दिल्ली उत्तराखंड में चुनावो से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है कांग्रेस के कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य बेटे संजीव आर्य ,हरेंद्र सिंह लाड्डी,उपेंद्र चौधरी,पूर्व कांग्रेस विधायक केदार सिंह रावत ने दिल्ली में भाजपा को ज्वाइन कर लिया
यशपाल आर्य उत्तराखंड की राजनीती में बड़ा दलित नाम कहा जाता है उत्तराखंड में कांग्रेस ने यशपाल आर्य को विधायक से लेकर दो बार प्रदेश अद्यक्ष की कमान के साथ साथ विधानसभा अध्यक्ष के रूप में भी जिमेदारी दी जा चुकी है राजनैतिक हलको में यशपाल के भाजपा का दामन थाम लेने की वजह नैनीताल सीट से बेटे संजीव आर्य को टिकेट दिए जाने की बात के रूप में सामने आ रही है लेकिन कांग्रेस इस बात को स्वीकार नहीं कर रही थी जिस को लेकर यशपाल आर्य ने भाजपा की राह को पकड़ लिया है वही दूसरी तरफ कांग्रेस ने यशपाल आर्य के भाजपा में ज्वाइन किये जाने को लेकर भाजपा का दवाब करार दिया है मुख्यमंत्री हरीश रावत के मीडिया सलाहकार सुरेंद्र अग्रवाल ने आरोप लगाया है की सहकारी समितियों में जमा करोड़ो के धन को लेकर यशपाल आर्य और संजीव आर्य को भाजपा काफी समय से दवाब दे रही थी यही वजह रही की भाजपा में यशपाल आर्य को दवाब के तहत लिया गया है यही नहीं यशपाल के भाजपा में जाने के बाद उत्तराखंड की राजनीती में नया परिवर्तन हो सकता है कांग्रेस जहा इस राजनैतिक समीकरण की काट में लगी है वही भाजपा के अंदर भी विरोध तेज़ हो गया है बता दे की कांग्रेस के कद्दावर नेता, छह बार के विधायक और दो बार प्रदेश अध्यक्ष रहे कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य, उनके पुत्र संजीव आर्य और पूर्व कांग्रेस विधायक केदार सिंह रावत आज दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गए।
सूत्रों से छनकर जो खबर आ रही है उसके अनुसार लंबे समय से मुख्यमंत्री हरीश रावत की कार्यशैली व उपेक्षा से नाराज चल रहे यशपाल आर्य ने यह कदम उठाया है। कांग्रेस के लिए उत्तराखंड में बड़े दलित नेता का पार्टी छोड़कर भाजपा में जाना बड़ा झटका माना जा रहा है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments