बाॅडीबिल्डिंग को सहायक खेल के तौर पर मान्यता

0
356

बाॅडीबिल्डिंग को सहायक खेल के तौर पर मान्यता

देहरादून बाॅडीबिल्डिंग को सहायक खेल के तौर पर मान्यता दी जाएगी। मि.वल्र्ड बाॅडी बिल्डिंग चैम्पियनशिप 2016 में प्रतिभाग करने जा रहे मि.एशिया राहुल बिष्ट के सम्मान में रायपुर में बाॅडी टेम्पल में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री हरीश रावत ने यह घोषणा की। उन्होंने देहरादून में बाॅडी बिल्डिंग के बड़े आयोजन के लिए संबंधित संस्था को 10 लाख रूपए दिए जाने की बात भी कही। बाॅडीबिल्डिंग में वैज्ञानिक प्लांनिंग व कठिन परिश्रम की आवश्यकता होती है। यह एक स्वाभाविक खेल परवर्ती है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि वर्ष 2018 के राष्ट्रीय खेलों के आयोजन के लिए बड़े पैमाने पर तैयारियां की गई हैं। खेल नीति ने खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया है। हम पर्याप्त संख्या में कोच तैनात कर रहे हैं। प्रदेश में ढांचागत सुविधाएं जुटाई गई हैं। देहरादून व हल्द्वानी में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के स्टेडियम बनाए गए हैं। देहरादून व अल्मोड़ा में बेडमिंटन कोर्ट बनाए गए हैं। पौड़ी व मुन्स्यारी में हाई एल्टीट्यूड खेल के मैदान विकासित किए गए हैं। प्रत्येक जिले में ब्लाॅक में स्टेडियम व खेल के मैदान बनाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री रावत ने देहरादून के राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम के एकएक ब्लाॅक का नाम अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी एमएस धोनी व भारतीय महिला हाॅकी टीम की कप्तान वंदना कटारिया के नाम पर रखे जाने की घोषणा की। खेल मंत्री दिनेश अग्रवाल ने राहुल बिष्ट को बधाई देते हुए कहा कि पिछले वर्षों में खेल अवस्थापना सुविधाओं में काफी काम किया गया है। सीमित संसाधनों के होते हुए भी इतनी सुविधाएं जुटाई गई हैं। खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए हर सम्भव प्रयास यिका जा रहा है। इस अवसर पर विधायक राजकुमार, नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष नीनू सहगल, केएन शर्मा सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments