ब्लैकमेलिंग करते पत्रकार वीडियो से मची सनसनी

0
946

ब्लैकमेलिंग करते पत्रकार वीडियो से मची सनसनी
पीत पत्रकारिता का झंडा ऊचा कर अपने मीडिया के हितों की कीमत किस तरह लगायी जाती है ज़रा इस वीडियो को देख कर अंदाजा लगा ले हो सकता है ये मीडिया का चोला ओढ़ कर आप के आस पास कही आप को भी तो ब्लैकमेल तो नहीं कर रहा एक मामले में अब इस पत्रकार के खिलाफ जाँच सुरु हो गयी है पूरा वीडियो देखने के लिए क्लिक करे
सहारा समय की कंगाली का सौदा कर डाला इस पत्रकार ने
देहरादून मीडिया की खाल में वैसे तो बहुत से दलाल देखे होगे लेकिन मीडिया हाउस जो इन दिनों पत्रकारों को वेतन देने में कमजोर साबित हुआ है यही कारन है की इस मीडिया हाउस के पत्रकारों ने अब खनन कारोबारियों से वसूली अभियान की जमकर बेखौफ होकर अपने महीने के वेतन का जुगाड़ करना सुरु कर दिया है इन दिनों सहारा समय न्यूज़ पेपर में कर्मचरियो को वेतन नहीं मिल रहा जिस के कारन लगातार कई पत्रकारों के घरों में चूल्हा नहीं जल रहा अपने घर के चूल्हे को जलने के लिए अब सहारा समय के पत्रकार खनन कारोबारियों से महीने के पांच हज़ार रूपए मांगते नज़र आ रहे है यही नहीं ये पत्रकार वीडियो में यह भी कहते हुए नज़र आ रहा है की पत्रकारों का तो खर्च ऐसे ही चलता है अब सवाल ये उठ रहा है की इस वीडियो के सामने आने के बाद क्या इस पत्रकार को मीडिया हाउस बहार का रास्ता दिखा कर पत्रकारिता की बची हुई साख को जिन्दा रखेगा

सितारगंज में सहारा समय का पत्रकार क्यों बन गया जगलर
जी है या सही नोटों की खनक सभी को अच्छी लगती है लेकिन बिना मेहनत के जब हरे हरे नोट मिल जाये तो कोई मेहनत क्यों करेगा कुछ ऐसे ही किया सितारगंज के इस पत्रकार ने खनन कारोबारी से ये पत्रकार अपने महीना भर की रकम मांग रहा है वही ये भी बोल रहा है की हमारा तो गुजारा ऐसे ही चलता है सितारगंज में सहारा समय न्यूज़ पेपर का पत्रकार नारायण सिंह रावत वर्तमान में काम करता है इसी के वीडियो को लेकर सनसनी मच गयी है देहरादून से लेकर सहारा समय तक मामले की गूंज जा पहुंची है इस मामले को लेकर जब रावत से भड़ास फॉर इंडिया ने बात की तो उन्होंने कहा की ये वीडियो पूरी तरह गलत है और इस वीडियो के कुछ भाग को दिखाया गया है उन्होंने कहा की जिस वयक्ति ने इस वीडियो को तैयार किया है वो कही न कही खनन कारोबार से जुड़ा हो सकता है क्यों की कुछ दिन पूर्व खनन से जुड़े समाचार को प्रकशित किया गया था जिस के कारण विवाद बढ़ गया था बता दे की वर्तमान में सितारगंज में पत्रकारों ने भाजपा के एक नेता के खिलाफ भी जान से मरने की धमकी का शिकायती पत्र पुलिस को दिया है इस मामले को लेकर पुलिस अभी अपनी जाँच कर रही है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments