बिजली उपभोक्ताओं ने जमकर काटा हंगामा

0
362

बिजली उपभोक्ताओं ने जमकर काटा हंगामा

रुड़की 500 और 1000 का नोट बंद करने के बाद बुधवार को ऊर्जा निगम के दफ्तर पर बिजली बिल जमा कराने पहुंचे उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ा। ऊर्जा निगम ने बड़े नोट को लेने से मना कर दिया, जिस पर जमकर हंगामा हुआ। स्थिति यह हुई कि पुलिस बल को बुलाना पड़ा। काफी देकर हंगामा होता रहा। पुलिस ने जैसे-तैसे मामले को शांत कराया। निगम की ओर से कैश काउंटर को बंद कर दिया गया। साथ ही स्पष्ट निर्देश दिए कि छोटे नोट के अलावा चेक आदि से ही बिल भुगतान करने की बात कही।
रुड़की में अधिशासी अभियंता दफ्तर के समीप ही ऊर्जा निगम की ओर से बिजली बिल जमा करने के लिए कैश काउंटर स्थापित किए हुए हैं। बुधवार को सुबह उपभोक्ता बिजली बिल जमा कराने पहुंचे तो वहां मौजूद कर्मचारियों ने साफ कर दिया कि वह 100 या इससे छोटे नोट ही स्वीकार करेंगे। इस पर उपभोक्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया। उनका कहना था कि जब 30 दिसंबर तक बैंक में नोट जमा होने हैं, तो ऊर्जा निगम क्यों नहीं बड़े नोट ले रहा। गणेशपुर से बिजली का बिल जमा कराने आई कमलेश गुप्ता और रामनरेश वर्मा ने बताया कि सोमवार को छुट्टी थी। मंगलवार को रुपये करने के बाद बुधवार को बिल जमा कराने आए थे। हंगामा होने की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर किसी तरह लोगों को शांत कराया। इस बीच, ऊर्जा निगम कर्मियों ने कैश काउंटर बंद कर दिया।मनोज कुमार सती ने बताया कि उच्च अधिकारियों के निर्देश पर ऐसा किया गया है। वहीं डीजीएम एमएल प्रसाद ने बताया कि उपभोक्ता छोटे नोट और चेक से बिल का भुगतान कर सकते हैं।
भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य आदेश सैनी और ईई के बीच जमकर नोकझोंक हुई। उन्होंने आरोप लगाया कि ऊर्जा निगम के अधिकारी बिना वजह लोगों को परेशान कर रहे हैं। यदि कोई बड़े नोट लेकर आ रहा है तो उसे लेकर बैंक में जमा करा दें, लेकिन ईई ने साफ कह दिया कि वह बड़े नोट नहीं लेंगे।
बिल वसूली प्रभावित एसडीओ सिविल लाइंस मोहम्मद उस्मान ने बताया कि उनके डिविजन में रोजाना 10 लाख रुपये प्रतिदिन बिल जमा होते हैं, लेकिन बुधवार को 100 के नोट से केवल 21 हजार रुपये ही जमा हो पाये हैं। एसडीओ द्वितीय राहुल चांदना ने बताया कि उनके सब डिवीजन में मात्र 8 हजार रुपये जमा हुए जबकि सामान्य दिनों में यहां पर ढाई लाख रुपये प्रतिदिन जमा हुए। इसके अलावा, रामनगर के एसडीओ अश्वनी कुमार ने बताया कि प्रतिदिन चार लाख रुपये बिल का जमा होता है, लेकिन आज मात्र 4 हजार रुपये ही बिल जमा हुआ है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।